आयुर्वेद चिकित्सकों का एकदिवसीय कार्यशाला

IMG20160915140057बिलासपुर— राष्ट्रीय आयुष मिशन के बैनर तले निजी हॉटल मे कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में बिलासपुर और मुंगेली जिला के चिकित्सकों ने हिस्सा लिया। इस मौकेे पर असिस्टेंट डायरेक्टर रायपुर ने उपस्थिथ सभी आयुष चिकित्सकों को शिविर आयोजन की जानकारी दी। उन्होने आयुर्वेद चिकित्सा को जन जन तक पहुंचाने के टिप्स भी दिए। राज्य सरकार की आयुषदीप योजना और आयुर्वेदिक ग्राम योजना के बारे विस्तार से जानकारी दी गयी।

                         कार्यशाला को असिस्टेंट डायरेक्टर आयुष डॉ.विजय साहू रायपुर ने संबोधित किया। आयुर्वेद चिकित्सा के प्रति जनसामान्य को जागरूक करने का पाठ प़ढ़ाया। उन्होने बताया कि सरकार आयुगर्वेदिक ग्राम योजना के तहत प्रदेश के कोने कोने तक आयुर्वेद के महत्व को पहुंचाना चाहती है। बिलासपुर में आयुर्वेदिक ग्राम योजना के तहत कुल 55 आयुर्वेदिक औषधालय संचालित हैं। इनमें 55 गांवो के अलावा काफी संख्या में आश्रित गांव भी शामिल हैं। योजना की सफलता और आयुर्वेद चिकित्सा के प्रति लोगों में विश्वास जगाने के लिए हमारी पहुंच जन-जन होनी चाहिए।

                                   डॉ.विजय साहू ने बताया कि रिमोट क्षेत्र में लोगों को आयुर्वेद  चिकित्सा की बहुत अधिक जानकारी नहीं है। इसके लिए विभाग ने गांवों में  चिकित्सा शिविर आयोजन करने का निर्देश दिया है। इस दौरान डॉ.साहू ने शिविर की सफलता को लेकर लोगों को जरूरी टिप्स दिए। उन्होने आयुर्वेद चिकित्सा के प्रति लोगों मं विश्वास जगाने का उपाय बताया। डॉ.साहू ने इस दौरान चिकित्सीय उपाय की भी जानकारी दी।

                       डॉ.साहू ने बताया कि बिलासपुर और मुगेली में कुल 76 जगह आयुषदीप योजना काम कर रही है। औषधालयों के रखरखाव,उन्नयन और औषधियों पर 25 हजार रूपए सालाना दिया जा रहा है। हमें इन राशियों का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करने की जरूरत है। प्रशिक्षण कार्यशाला को जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ.प्रदीप शुक्ला ने भी संबोधित किया। उन्होने इस दौरान उपस्थित सभी चिकित्सकों से सीधे संवाद किया।

                                                       कार्यशाला में बिलासपुर और मुंगेली जिले के चिकित्सक विशेष रूप से उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *