कांग्रेसियों ने कहा निगम के इंजीनियर नकारा…काबिल को दें मानिटरिंग का जिम्मा…बनारस हादसा अभी भी याद

बिलासपुर—ज़िला शहर कांग्रेस के साथ कांग्रेस पार्षदों ने नरेंद्र बोलर और शेख नजीरुद्दीन की अगुवाई में कमिश्नर कार्यालय मेे लिखित शिकायत कर बताया कि निगम इंजीनियरों ने शहर को प्रयोगशाला बनाकर रख दिया है। बेहतर हो कि निर्माणाधीन तिफरा ओव्हरब्रीज का काम किसी अनुभवी और काबिल इंजीनियर की देखरेख में किया जाए।

                    संभागायुक्त टी.सी.महावर की अनुपस्थिति में कांग्रेस नेताओं ने लिखित शिकायत कम मांग पत्र अपर आयुक्त सी एस डाहरे को दिया। कांग्रेसियों ने कहा कि तीफरा फ्लाई ओवर में बढ़ती जा रही लापरवाही को किसी भी सूरत में शहर के लोग बर्दास्त नहीं करेंगे। कांग्रेसियों ने आरोप लगाया कि तिफरा ओव्हरब्रीज का निर्माण 100 करोड़ की लागत से शर्तों के अनुसार काम को पूरा होने में 18 माह लगना है। जबकि 11 महीने बीत चुके है। लेकिन काम मात्र पांच प्रतिशत भी नहीं हुआ है।

                   कांग्रेसियों ने बताया कि निर्माण का देखरेख नगरीय निकाय विभाग को दिया गया है। नगरीय निकाय विभाग ने मानिटरिंग की जिम्मेदारी के लिए एक अधीक्षण अभियंता ,एक सहायक अभियंता, दो उप अभियंता को नियुक्त किया है । मजेदार बात है कि नियुक्त किए गए किसी भी इन्जीनियर के पास पुल निर्माण का अनुभव नही है ।

                    कांग्रेसियों ने बताया कि बनारस में पुल हादसे में बड़ी दुर्घटना हो चुकी है । बिलासपुर में तुर्काडीह पुल निर्माण के बाद मात्र पाच साल के भीतर ही जर्जर हो चुका है। निर्माण में भ्रष्टाचार को कोई नहीं रोक सकता है। पुल निर्माण से लोगों की जिन्दगी जुड़ी हुई है।

        कांग्रेसियो ने कहा कि अनुभवहीन निगम अधिकारियों का दुष्परिणाम शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है। सिवरेज का हाल किसी से छिपा नहीं है।

               प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,शैलेश पाण्डेय,अभय नारायण राय,नरेन्द्र बोलर,शेख नजरूद्दीन और शैलेन्द्र जायसवाल ने पत्रकारों को बताया कि भ्रष्टाचार और अनुभवहीनता को देखते हुए प्रशासन को आगाह करने आये है कि समय रहते अनुभवहीन अधिकारियो को हटाया जाए। उनके स्थान पर किसी काबिल और अनुभवी इंजीनियरों को जिम्मेदारी दी जाए।

                कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि 11 महीने में पुल निर्माण का काम मात्र पांच प्रतिशत से कम हुआ है। चुनान नजदीक होने के कारण मंत्री के इशारे पर लोगों को प्रभावित करने के लिए पुल बनवाया जा रहा है।

             इस मौके पर ज्ञापन देने वालो में शेख गफ्फार,चन्द्र प्रकाश बाजपेयी,विजय पांडेय,राजेश पांडेय,शिवा मिश्रा ,महेश दुबे,तरु तिवारी, जसबीर गुम्बर,सीमा पांडेय,पंच राम सूर्यवँशी,तैय्यब हुस्सैन,शैलेन्द्र जॉसवाल,अखिलेश बाजपेयी, रमाशंकर बघेल,मुकीम कुरैशी,रमेश गुप्ता,काशी रात्रे,भागीरथी यादव,जावेद मेमन,अमित दुबे,जहुर अली मोती ठारवानी,बिल्लू मिश्रा,अजय मल्लू पन्त,सुभाष श्राप समेत कई कांग्रेसी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *