कांग्रेस नेताओं ने दी आंदोलन की धमकी…कहा…पुराने समय पर चलाएं ट्रेन…या फिर विरोध का करें सामना

बिलासपुर — जिला कांग्रेस कमेटी शहर बिलासपुर ने दैनिक यात्रियों की सुविधा को देखते हुए प्रतिदिन बिलासपुर-रायगढ़ ट्रेन को यथावत रखे जाने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं बताया कि रायगढ़ बिलासपुर मेमों से कर्मचारियों का आना जाना होता है। इसलिए मेमू के समय में परिवर्तन नहीं किया जाए। 1सितम्बर को मेमू की समय सारणी में रायगढ़ से छूटने का 15.25 के वजाय पुराना समय 14.05 बजे किया जाए। इससे यात्रा कर रहे कर्मचारियों को फायदा होगा।
                         कांग्रेस नेताओं ने बताया कि नये समय सारणी में 1.30 घंटे पहले गाड़ी छोड़ने के कारण रायगढ़ से बिलासपुर तक 500 से 700 की संख्या में सफर करने वाले दैनिक यात्री प्रभावित होंगे। खासकर महिला कर्मचारियों को परेानी होगी। ज्यादातर नौकीरपेशा यात्री सुबह 6.50 बजे टीटलागढ़ पैसेंजर से अपने कार्य स्थल के लए निकलते हैं। रायगढ़ – बिलासपुर मेमू के समय में परिवर्तन  से उनके पास वापसी के लिए विकल्प के तौर पर  टाटा इतवारी पैसेंजर ही एकमात्र साधन रहेगा। यह ट्रेन हमेशा विलम्ब से चलती है। अधिकतर स्टेशनों में उसका स्टाॅपेज भी नहीं है।
            जिला कांग्रेस ने रेल प्रशासन से लिखित में मांग पेश करते हुए कहा कि समय परिवर्तित किया ही जाता है, तो सुबह बिलासपुर से छूटने वाली ट्रेन  इतवारी टाटा पैसेंजर को 1.30 घंटे विलम्ब से बिलासपुर से छोड़ा जाये। एक नई ट्रेन सुबह 8 बजे बिलासपुर से प्रारम्भ की जाये। इससे सुबह जाने वाले दैनिक यात्रियों को भीड़ से छूटकारा मिलेगी।  नई ट्रेन शाम 4  बजे रायगढ़ से छूटे। दैनिक यात्रियों को समय परिवर्तन से कोई परेशानी भी नहीं होगी।
                                            कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता अभयन नारायण राय ने बताया कि बिलासपुर जोन के  दैनिक यात्रियों की सुविधाओं का ख्याल रखा जाये। मांग के अनुसार या तो ट्रेन का समय पूर्ववत किया जाए अथवा एक नई ट्रेन की सौगात दी जाये। बावजूद इसके यदि दैनिक यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान नहीं रखा गया तो कांग्रेस कमेटी दैनिक यात्रियों के साथ उग्र आंदोलन करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *