तम्बाखू निषेध दिवस पर विशेष कार्यशाला

JILA ASPTALबिलासपुर—विश्व तम्बाखू निषेध दिवस पर जिला चिकित्सालय में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। तम्बाखू सेवन करने वालो की जांच की गयी।  26 महिला और पुरुष की जांच में तीन लोग मुख में कैंसर के लक्ष्ण पाये गये।

                      तम्बाखू जान लेवा है। इसके इस्तेमाल से कैंसर होता है। विज्ञापन आज सभी टीवी चैनल पेपर और सरकारी अभियान, दीवारों और पोस्टरों में लिखा दिखाई देता है। बावजूद इसके तम्बाखू का जमकर उपयोग हो रहा है। लोगो को जागरुक करने आज जिला चिकित्सालय के डॉक्टरो ने एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया।  70 महिला और पुरुषो को पाम्पलेट के माध्यम से जागरूक करने का काम प्रयास किया गया।

                         कार्यशाला के दौरान जिला चिकित्सालय के डॉक्टरो ने तम्बाखू का सेवन करने वाले 16 पुरुष और 9 महिला का परीक्षण किया। दो पुरुष और 1 महिला में उड़न कैंसर के लक्षण पाये गये। डॉक्टर एसएस बाजपेयी, डॉक्टर मनोज जयसवाल और ए.के. झा ने शिविर में पहुंचे लोगो का परीक्षण किया। आरएमओ आर जयसवाल ने बताया कि जिला चिकित्सालय में एनसीडी क्लीनिक है। कैंसर का निशुल्क उपचार किया जाता है। शिविर में पहुंचे लोगों को तम्बाखू सेवन नहीं करने का संदेश दिया गया है।

गायत्री परिवार की रैली          

विश्व तंबाखू निषेध दिवस पर गायत्री परिवार ने रैली निकालकर समाज तम्बाखू सेवन के दुष्परिणाम का संदेश दिया।शक्तिपीठ के पदाधिकारियों ने नशे खिलाफ शपथ भी दिलाया। विद्यानगर गायत्री शक्तिपीठ ने रैली के जरिए युवाओं को नशामुक्ति का पाठ पढ़ाया। रैली में शहर के पांचों गायत्री प्रज्ञापीठ के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। रैली शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए कलेक्टर कार्यालय में खत्म हुई।

                    गायत्री शक्तिपीठ मुख्य प्रबंधक सीपी सिंग ने बताया कि देश तेजी से तरक्की कर रहा है। नशे के प्रति रूझान उससे कहीं ज्यादा तेज देखने को मिल रहा है। किसी भी राष्ट्र की सच्ची संपत्ति स्वस्थ्य मन और स्वच्छ तन होता है।नशे का प्रचार प्रसार कुछ ज्यादा ही किया जा रहा है। लोग तेजी से नशे की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। इसका अबोध युवा मन पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। तम्बाखू निषेध दिवस पर हमने रैली के माध्यम से नशे के दुष्परिणामों को जन जन तक पहुंंचाने का प्रयास किया है।

                              शक्तिपीठ के पदाधिकारियों ने कलेक्टर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री डा रमन सिंह के नाम पत्र सौंपा ।पत्र के माध्यम से शराब, तंबाखू, बीड़ी, सिगरेट,अफीम,गांजा,भांग और अन्य तरह के नशीले पदार्थों के प्रतिबंद्ध की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *