फरार ब्लैकमेलर चढ़े पुलिस के हत्थे, महिला समेत तीन आरोपी गिरफ्तार,मैनेजर को लगाया साथ लाख से अधिक का फटका

बिलासपुर—- सिविल लाइन पुलिस ने पंजाब में बैंक प्रबंधक से ब्लैकमेलिंग के आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों में एक महिला भी शामिल है। ब्लैकमेलर महिला को आगे कर ब्लैकमेलिंग के मंसूबों को अंजाम दिया करते थे। बिलासपुर पुलिस ने तीनों आरोपियों को मुसापिरी दर्ज अभियान के दौरान पकडा है। बिलासपुर पुलिसने पकड़े गए तीनों आरोपियों की जानकारी पंजाब स्थित जालंधर जिले के स्थानीय थाने को दी है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

                 एडिश्नल एसपी ओम प्रकाश शर्मा ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से अपराध और अपराधियों की नकेल कसने पुलिस कप्तान के निर्देश पर विशेष अभियान चलाया जा रहा है। प्रत्येक थाना क्षेत्र के प्रभारी विभिन्न स्थानों पर पहुंचकर संदिग्धों की पता साजी कर रहे हैं। इसी क्रम में पुलिस को मुखिबर से जानकारी मिली कि सिविल लाइन थाना क्षेत्र कुछ संदिग्धों को अग्रसेन चौक के आस पास देखा गया है। महिंला समेत तीनों लोग पंजाब के रहने वाले हैं। जेवर बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं

मुखबिर की सूचना पर पतासाजी

           मुखबिर से जानकारी मिलते ही सिविल लाइन पुलिस को अलर्ट किया गया। टीम बनाकर तीनों संदिग्धों की तलाशी शुरू हुई। बताए गए हुलिए के आधार पर तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू हुई। पहले तो तीनों गोलमोल जवाब दिया…बार बार बिलासपुर आने की गलत जानकारी देते रहे। काफी दबाव के बाद तीनों ने अपना पता ठिकाना पंजाब प्रांत के जालंधर जिले के थाना रामामण्डी का निवासी होना बताया। सिविल लाइन थाना प्रभारी ने पंजाब स्थित रामामण्डी थाना से सम्पर्क किया। सम्पर्क के दौरान जानकारी मिली कि तीनों के खिलाफ थाने में धारा 386,342,506,332,120 बी का अपराध दर्ज है।

बैंक मैनेजर को दिया झांसा

                 एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा ने बताया कि तीनों ने मिलकर बैंक मैनेजर सुशाल शर्मा को ब्लैकमेलिंग कर सात लाख से अधिक रूपयों का फटका दिया है। तीनों ने सबसे पहले एक लड़की को लोन लेने के बहाने सुशाल शर्मा के पास भेजा। लड़की ने सुशाल शर्मा से प्रापर्टी दिखाकर लोन की मांग की। इस बीच बैंक मैनेजर को गिरफ्त में लेने के लिए लड़की लगातार फोन से बातचीत करती रही। झांसे में आकर बैक  मैनेजर प्रापर्टी का निरीक्षण करने लड़की के साथ मौके पर पहुंचा। लेकिन लड़की बैंक मैनेजर को लेकर एक कमरे में चली गयी। इसी बीच पूर्व प्लानिंग के अनुसार मौक पर सात आठ लोग पहुंचकर फोटो खीचने लगे। जिसके चलते बैंक मैनेजर काफी डर गया। लड़की ने बैंक मैनेजर से कहा कि यदि उसे पैसे नहीं दिए गए तो थाना पहुंचकर बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज कराएगी।

आरोप से बचने दिया सात लाख..कराया रिपोर्ट दर्ज

एडिश्नल एसपी ने यह भी जानकारी दी कि महिला के झांसे में आकर इज्जत बचाने पंजाब एण्ड सिंध बैंक के मैनेजर सुशाल शर्मा ने सात लाख दस हजार रूपए दिए। इसके बाद बैंक मैनेजर रामामण्डी में रिपोर्ट भी दर्ज कराया। तीनों को जब बिलासपुर में पकड़कर रामामण्डी थाना से सम्पर्क किया गया तो मामला सामने आया।

तीनों से अलग अलग पूछताछ

                बिलासपुर पुलिस ने तीनों से अलग अलग बातचीत की। तीनों ने अपना नाम प्रियारानी वाधवानी, अशोक कुमार और अश्वनी कुमार बताया। प्रियारानी ने पुलिस को बताया कि उसके पति का नाम समीर वाधवान है। वार्ड क्रमांक आठ मोहल्ला सरियन अलावनपुर में रहती है। अश्वनी कुमार ने अपना पता ठिकाना बलदेव नगर थाना रामामण्डी में होना बताया। अशोक कुमार ने जानकारी दी कि वह संतकपुरा थाना रामामण्डी का निवासी है। तीनों ने बिलासपुर पुलिस को बताया कि उनके खिलाफ रामामण्डी थाने में अलग अलग अपराध दर्ज है।

बाबी लाज से गिरफ्तारी…और माल बरामद

            एडिश्नल एसपी शर्मा ने जानकारी दी कि पूछताछ के बाद तीनों को पुराना बस स्टैण्ड स्थित बॉबी लाज से अलग अलग गिरफ्तार किया गया। प्रियारानी के पास से जेवर,अश्वनी के पास से दो हजार रूपए और अशोक कुमार से करीब पांच हजार नगद समेत ब्रेसलेट, चांदी का कड़ा को जब्त किया गया।  जब्त किए गए सामान की कुल कीमत दो लाख 33 हजार रूपयों से अधिक है।

परिजनों और रामामण्डी थाना को सूचना

                       गिरफ्तारी के पहले तीनों आरोपियों ने बताया कि पंजाब एण्ड सिंघ बैंक मैनेजर सुशाल शर्मा को लूटने के बाद तीनों ने रकम को बराबर बाटों में बांट लिया था। पुलिस से बचने तीनों बिलासपुर आए थे। रकम को खपाने के लिए ग्राहक तलाश रहे थे। एडिश्नल एसपी शर्मा ने जानकारी दी कि आरपियों को पकड़े जाने की जानकारी उनके परिजनों और पंजाब स्थित जालांधर जिले के रामामण्डी थाने को दी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *