फर्जी रसीद से 10 लाख रूपए की वसूली…जनता कांग्रेस नेताओं ने कहा…प्रबंधक और संचालक को भेजो जेल

बिलासपुर– जनता कांग्रेस नेताओं ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर किसानों की राशि को हड़प करने वाले सेवा सहकारी समिति धनिया के प्रबंधक खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जनता कांग्रेस नेताओं ने लिखित शिकायत कर जिला प्रशासन को बताया कि धनिया शाखा प्रबंधक और संचालक मण्डल ने किसानों के खाते का 10 लाख रूपए ऋण का घोटाला किया है। जांच के बाद आरोप सही पाया गया है। बावजूद इसके अभी तक प्रबंधक के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गयी है। जनता कांग्रेस नेताओं ने कहा कि किसानों के धन में भ्रष्टाचार करने वाले आरोपी शाखा प्रबंधक और संचालक मण्डल को जेल भेजा जाए।

                             जनता कांग्रेस नेता और पीड़ित किसान जिला प्रशासन से धनिया सेवा सहकारी समिति शाखा प्रबंधक और संचालक मण्डल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। जिला प्रशासन को लिखित शिकायत कर जनता कांग्रेस जिला अध्यक्ष संंतोष दुबे,मणिशंकर पाण्डेय,बबला,विक्रांत तिवारी समेत सभी नेताओं ने बताया कि सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक सैकड़ों किसानों से फर्जी रसीद देकर कुल 10 लाख रूपए वसूल किये हैं।

                         मामले में पहले भी जिला सहकारी केन्द्रीय मर्यादित बैंक बिलासपुर,उप पंजीयक से शिकायत की गयी है। दोनो संस्थाओं ने जांच पड़ताल के दौरान किसानों और हितग्राहियों की शिकायत को सही पाया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जिला सहकारी केन्द्रीय मर्यादित बैंक और उप पंजीयक ने शाखा प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है। बावजूद इसके शाखा प्रबंधक राजकुमार तिवारी पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हुई है।

                       संतोष दुबे,मणिशंकर,विक्रांत और समीर अहमद ने जिला प्रशासन से कहा कि जांच रिपोर्ट में धनिया सहकारी समिति घोटाला काण्ड में संचालक मंडल को भी दोषी बताया गया है। जनता कांग्रेस नेताओं के अनुसार राजकुमार तिवारी और संचालक मण्डल के सदस्य किसानों से 10 लाख रूपए ऋण वसूलने के बाद फर्जी रसीद थमाया है। अब एक बार फिर उसी ऋण को किसानों से वसूला जा रहा है जिन्हे वे पहले दे चुके हैं। कई लोगों के खाते से दुबारा ऋण की कटौती की गयी है। यदि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *