रमन ने की कैदियों के हुनर की तारीफ

3477जगदलपुर।मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने बुधवार को संभागीय मुख्यालय जगदलपुर के लगभग 97 साल पुराने केन्द्रीय जेल परिसर में दस करोड़ रूपए की लागत से पांच सौ कैदियों के रहने के लिए बनाए गए बैरको और 80 बिस्तरों वाले अस्पताल का शुभारंभ किया।बता दें कि ये जेल परिसर लगभग 97 साल पुराना है। इसका निर्माण वर्ष 1919 में किया गया था।समय-समय पर इसका उन्नयन भी होता रहा। मुख्यमंत्री सीएम ने कहा कि दुनिया के सभी धर्मों में मनुष्यों को सच्चाई और अच्छाई के रास्ते पर चलने की शिक्षा दी गई है। इसलिए जेलों में सभी धर्मों के विद्वानों के प्रवचन होने चाहिए, ताकि कैदियों को अच्छाई और नैतिकता की शिक्षा मिल सके।

                                        डॉ. रमन सिंह ने कहा कि मैं जेल में आने की शुभकामनाएं तो किसी को भी नहीं दूंगा, लेकिन जेलों को सुधारगृह के रूप में विकसित करने के सरकार के प्रयासों में सभी लोगों, विशेष रूप से जनप्रतिनिधियों और संबंधित अधिकारियों से सहयोग की उम्मीद जरूर रखंूगा।

                                     मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की जेलों में कैदियों को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगारमूलक कौशल प्रशिक्षण दिलाने की भी योजना है, ताकि रिहाई के बाद वे भी आम नागरिकों की तरह आत्मनिर्भर बनकर समाज में स्वाभिमान के साथ जीवनयापन कर सके। डॉ. सिंह ने खुशी जताई कि जगदलपुर जेल में कैदियों को कौशल प्रशिक्षण दिया जा रहा है।जेलों को सुधार गृह के रूप में बनाया जा रहा है।

                                        सीएम ने इस मौके पर मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत कम्प्यूटर हार्डवेयर प्रशिक्षण प्राप्त बंदी गिरधर साहू, टेलर प्रशिक्षण प्राप्त बंदी नीलाधर और श्रीनिवास राव, बढ़ई प्रशिक्षण प्राप्त बंदी संतीश कुमार जुमड़े और प्रिटिंग प्रशिक्षण प्राप्त बंदी सुशांत माली को प्रमाण पत्र प्रदान किए।सीएम ने ने परिसर में कैदियों द्वारा जेल में निर्मित विभिन्न वस्तुओं की प्रदर्शनी को भी देखा और उनके हाथों के हुनर की तारीफ की।

                                         सीएम ने कहा किलगभग दस वर्ष पूर्व जब मैने राज्य की कुछ जेलों का निरीक्षण किया था, तब वहां कैदियों की अतिरिक्त संख्या के कारण होने वाली परेशानियों को अनुभव किया और हर जेल परिसर में सुविधाओं के विस्तार के लिए प्रयास शुरु किए गए। मुख्यमंत्री सहित अतिथियों ने जेल परिसर में वृक्षारोपण भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *