वांटेड तस्करों ने दिया पुलिस को चकमा

RATANPUR THANA बिलासपुर—भालूमाड़ा थाने के वाटेंड आरोपी रतनपुर पुलिस के गिरफ्त से भागने में कामयाब हुआ है। मुखबिर की सूचना पर रतनपुर ने पुलिस इनामी तस्कर को पकडने चपोरा के पास नकाबंदी कर पकड़ने का प्रयास किया। आरोपी पुलिस की जीप को ठोकर मारकर फरार हो गया।

              रतनपुर को मुखबिर से सूचना मिली की भालूमाड़ा अनूपपुर का वांटेड आरोपी रतनपुर की तरफ आ रहा है। रतनपुर पुलिस ने चपोरा के पास नाकाबंदी कर पकड़ने का प्रयास किया। इसी दौरान आरोपी पुलिस की घेराबंदी देख नौ दो ग्यारह हो गये। इस दौरान आरोपियों ने पुलिस की गांडी को भी ठोकर मार दिया। मौके पर गोली चलने की सूचना भी मिली है। पुलिस ने गोली चलने की बात का खंडन किया है। पुलिस ने बदमाशों की गाड़ियों को बरामद कर लिया है। बताया जा रहा है कि सभी आरोपी आस पास के जंगल में छिपे हो सकते हैं।

                                                        जानकारी के अनु्सार पुलिस को सूचना मिली कि भालूमाड़ा थाने से एनडीपीएस एक्ट का फरार आरोपी गांजा तस्कर दुर्गैश पटेल, चरखा पटेल और दो अन्य लोग बोलेरो से अमरकटंक केंदा मार्ग के रास्ते रतनपुर की ओर आ रहे है। पुलिस नें गांजा तस्कर को पकड़ने चपोरा के पास नाकाबंदी कर की। सभी वाहनो की जांच की जा रही थी। इसी दौरान आरोपी बोलेरो से चपोरा पहुचे। चेकिंग से बचने वाहन की रफ्तार बढ़ा दी।पुलिस की वाहन को ठोकर मारते हुए बोलेरो को आगे निकाल लिया। डराने के लिए बदमाशो ने हवाई फायरिंग भी की। पुलिस ने गोली चलने की बात से इंकार किया है।

                        पुलिस को चकमा देकर भागने का प्रयास कर रहे आरोपियो ने पाली के पास वन विभाग के नाके को को भी तोड़ दिया। दीपिका की ओर भाग गए। बिलासपुर कंट्रोलरूम से कोरबा कंट्रोलरूम को सूचना दी गई। आरोपी हरदीबाजार थाना क्षेत्र के छीनपानी में बोलेरो एमपी 66 सी 1121 को छोड़ कर जंगल में फरार हो गये।ratanpur

                          पुलिस ने वाहने को जब्त कर लिया है। बिलासपुर सीएसपी लखन पटले ने बताया की गाडी में तीन पुरुष और एक महिला सवार थे। दो के नाम मिल चुके है । बिलासपुर पुलिस, कोरबा पुलिस और जांजगीर चांपा को सूचना देकर अलर्ट किया गया है। आरोपी गाड़ी छोडकर जंगल की ओर भागे है। जंगल से लगे सभी थानो को सतर्क और चौकन्ना कर दिया गया है। सीपत से भी कोरबा के जंगल जुड़े हुए है। थाना प्रभारी सीपत को भी जंगल के इलाको में निगरानी रखने निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *