निजीकरण के खिलाफ 10 लाख बैंकरों ने खोला मोर्चा..दिखाई ताकत..ललित ने कहा..जन सहयोग से बचाएंगे बैंक

बिलासपुर—— बैंक कर्मचारियों  ने यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के बैनर तले अखिल   भारतीय स्तर पर निजीकरण को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। बिलासपुर में भी बैंक कर्मचारियों ने यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक के आह्वान पर कार्यालयों के सामने प्रदर्शन कर आक्रोश को जाहिर किया। 
 
             यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आव्हान पर बिलासपुर में भी निजीकरण के विरोध में विरोध प्रदर्शन किया गया। अखिल भारतीय स्तर पर 10 लाख से अधिक बैंक कर्मचारी और  अधिकारियों ने सड़क पर उतरकर आवाज बुलन्द किया।
 
         बिलासपुर बैंकर्स क्लब समन्वयक ललित अग्रवाल ने बताया कि निजीकरण के खिलाफ बिलासपुर के सभी बैंकों ने सड़क पर उतरकर सरकार के फैसले का पुरजोर विरोध किया है। हड़ताल के दौरान जिला प्रशासन की कोरोना गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन किया गया।
 
                 हड़ताल के दौरान ललित अग्रवाल समेत अन्य कर्मचारी नेताओं ने प्रधानमंत्री के बयानों के आधार पर तैयार 8 सवालों का जवाब मांगा गया। अग्रवाल ने बताया कि सोमवार को केनरा बैंक क्षेत्रीय कार्यालय, रामा पोर्ट के सामने शरद बघेल, सौरभ त्रिपाठी और अशोक रॉय की अगुवाई में सरकार की निजीकरण नीति के खिलाफ प्रदर्शन किया गया।
 
         बैंकर्स क्लब समन्वयक ललित ने बताया कि इसके अलावा यूनियन बैंक, लिंक रोड के सामने दीपा टण्डन, प्रकाश पांडेय, दिनेश कुमार, बैंक ऑफ बड़ौदा लिंक रोड के सामने अनुराग बजाज, अंकुर त्रिवेदी,मुन्ना लाल पाल, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, मुख्य शाखा के सामने दामोदर हेमर्म, श्रवण मिश्रा, राजेश रावत, बैंक ऑफ इंडिया, दयालबंद के सामने रूपम रॉय, उपेंद्र सहारे, सुदेश बघेल, अमित रंजन के नेतृत्व में जंगी धरना प्रदर्शन किया गया।
 
             ललित अग्रवाल ने जानकारी दी कि हड़ताल को सफल बनाने में डी के हॉटी, एन वी राव, सत्येंद्र बहादुर सिंह, जितेंद्र शुक्ला, सुब्रत गुप्ता, मिंटू कुमार यादव, अशोक ठाकुर, मनोज मिरी, एस के रजक, शैलेन्द्र गोवर्धन समेत बड़ी सँख्या में बैंकर्स  ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। मंगलवार को सभी बैंकर्स सोमवार की तरह निर्धारित स्थलों पर धरना और  प्रदर्शन कर सरकार के निरीकरण फैसले का विरोध करेंगे।
 
               हड़ताल को ट्रेड यूनियन कौंसिल, भारतिय जीवन बीमा निगम कर्मचारी संगठन ने भी समर्थन दिया है। 
 
कहां कहां होगा बैंक कर्मचारियों का प्रदर्शन
 
              ललित अग्रवाल ने बताया कि कोरोना की गाइडलाइंस के पालन करते हुए मंगलवार को भी सभी बैंकर्स निजीकरण का विरोध करेंगे। धरना प्रदर्शन यूनियन बैंक, लिंक रोड,बैंकऑफ बड़ौदा, लिंक रोड,बैंक ऑफ इंडिया, दयालबंद, भारतीय स्टेट बैंक, मेन ब्रांच, केनरा बैंक, रामा पोर्ट,
ग्रामीण बैंक, मुंगेली नाका चौक। ललित ने कहा कि यूएफबीयू के बैनर तले धरना प्रदर्शन में आम नागरिकों का भी सहयोग लिया जाएगा। ताकि बैंकों को ओने पौने में बेचने और निजीकरण की  साजिशों पर रोक लगाई जाए सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *