कांग्रेस स्थापना दिवसः शहर अध्यक्ष ने कहा…भाजपा बो रही नफरत के बीज.. विधायक ने बताया..अंग्रेज परस्तों के हाथ में देश की सत्ता..जनता परेशान

बिलासपुर—ज़िला शहर कांग्रेस और सेवादल ने 28 दिसम्बर को कांग्रेस कार्यालय में पार्टी स्थापना दिवस मनाया। नेताओं ने इस दौरान कांग्रेस पार्टी की 135 वी स्थापना के साथ ही  कांग्रेस सेवादल की 96 वी स्थापना दिवस को शानदार तरीके से जश्न किया। स्थापना दिवस पर नेताओं ने केक काट कर अपनी खुशियों को जाहिर किया। शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर ने झंडा रोहण किया। राष्ट्रगीत गाया गया।

              स्थापना दिवस पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर बोलर ने कहा कि कि सेवादल का उद्देश्य सेनानी सामाजिक कार्य करे। आवश्यकतानुसार लोगों को मदद करें। कांग्रेस की रीति-नीति को,सरकार की योजनाओं को जन जन तक पहुंचाए। बोलर ने बताया कि आज देश मे वैमनस्यता का वातावरण निर्मित करने की कोशिश हो रही है। ,जिस काम के लिए अंग्रेज जाने जाते थे वह काम केंद्र की मोदी सरकार कर रही है। 

                           शहर विधायक शैलेश पांडेय ने कहा कि कांग्रेस की स्थापना 28 दिसम्बर 1885 को ,मुम्बई में हुई। कांग्रेस के इतिहास को तीन भागों में समझा जा सकता है । गांधी जी आगमन के पहले ,गांधी काल और स्वतन्त्रता के बाद का काल। कांग्रेस की तीनों काल में अपनी भूमिका को ईमानदारी के साथ निभाया है। आज देश की बागडोर उन लोगों के हाथ में है ,जिनका देश की आजादी की लड़ाई में कोई योगदान नही रहा। उनके आदर्श ऐसे लोग है जिसने अंग्रेजो से माफी मांगी और वेतन भोगी रह कर अंग्रेजों का काम किया।
 
              शैलेश पाण्डेय ने कहा कि देश के अहम मुद्दे कहीं खो गए हैं। अब भावनाओं का शोषण किया जा रहा है। केंद्र सरकार के पास युवाओ के लिए कोई विजन नही है।
 
             प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरुद्दीन ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा गरीब,सर्वहारा के उत्थान के लिए समर्पित रही है।  आज केंद्र सरकार की सारी योजनाए चन्द उद्योगपतियो को ध्यान में रखकर बनाई जा रही है। युवाओ को पकौड़ा तलने के लिए कहा जा रहा है। केंद्र सरकार चाहती है कि सब बेरोजगार हो और भाजपा के आश्रित रहे। ऐसी सोच देश को आंतरिक रूप से खोखला कर रही है। ,सरकार की सारी योजनाए धराशाही हो रही हैं। लेकिन नरेंद्र मोदी और अमित शाह को इस बात की कोई चिंता नही है कि महंगाई बढ़ रही ,रुपया आर्थिक मंदी की बाढ़ में गोता खा रही है कब डूब जाए कहा नही जा सकता है। बावजूद इसके प्रधानमंत्री कहते हैं कि अच्छे दिन आएंगे। सुनते सुनते लोगों की आंखे पथरा गयी हैं।
 
                  सैय्यद ज़फ़र अली, बसन्त शर्मा,शैलेन्द्र जायसवाल,अनिल सिंह चौहान,ने भी उपस्थित लोगों को सम्बोधित किया।  कार्यक्रम में पूर्व विधायक दिलीप लहरिया, रामशरण यादव,आशीष सिंह, हरीश तिवारी,विनोद शर्मा, त्रिभुवन कश्यप,एस एल रात्रे,एस पी चतुर्वेदी,शिवा मिश्रा,भुवनेश्वर यादव,ऋषि पांडेय,ब्रजेश साहू, अखिलेश बाजपेयी,तैय्यब हुसैन,परदेशी राज,विनोद साहू,अरविंद शुक्ला, सीमा पांडेय,चित्रलेखा कांस्कार, त्रिवेणी भोई, कामाक्षी पतंवार,रवि श्रीवास, इब्राहिम अब्दुल, रमाशंकर बघेल, सीताराम जायसवाल, साई भास्कर,अजय यादव,शेखर राव,अनिल घोरे,निर्मल मानिकपुरी,आशा सिंह,पूर्णानन्द चंद्रा, अजय मल्लू, सुभाष सराफ, जगदीश कौशिक, अहमद कुरैशी, गंगा राम लास्कर,कमलेश लव्हात्रे, संगीता चतुर्वेदी, पुष्पेंद्र मिश्रा,प्रिया जुरयानी,सूर्यमणि तिवारी,पवन साहू,अनपूर्णा यादव, राजकुमार यादव, दिलीप कक्कर, अर्जुन सिंह, खुशहाल वाधवानी,आदि उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *