दो दिवसीय पीडिकान का आगाज..चिकित्सकों का मंथन

IMG_20151031_105045बिलासपुर—एकडमी आफ पीडियाट्रिक्स के बैनर तले आज से दो दिवसीय पीडिकान-2015 विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। दो दिवसीय इस कार्यशाला में देशभर के शिशु रोग विशेषज्ञ चिकित्सक बिलासपुर पहुंचे  हैं। एकडमी आफ पीडियाट्रिक्स के द्वारा पहली बार बिलासपुर शहर में राष्ट्रीय स्तर का कार्यशाला आयोजित किया गया है। कार्यशाला में मुख्य रूप से बच्चों के स्वास्थ्य,बीमारियों से बचाव,शिशु मृत्यु दर,शिशु मृत्यु दर कम करने के कारण और रोकथाम विषय पर विशेषज्ञ दो दिनो तक अपनी प्रस्तुति देंगे।

                             कार्यशाला में शिशुओं में होने वाली बिमारियों पर विचार विमर्श और पत्र पढ़ा जाएगा। बिलासपुर के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.जीवानी ने बताया कि इस प्रकार के आयोजन से स्थानीय चिकित्सकों को सीधा लाभ होगा। कार्यशाला में विचार विमर्श के दौरान शिशु मृत्यु दर के कारणों और उसके निदान को लेकर चर्चा होगी। उन्होंने बताया कि बिलासपुर संभाग में सरकार के प्रयास से काफी हद तक शिशु मृत्यु पर अंकुश लगाया जा चुका है। बावजूद इसके अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में शिशु दर मृत्यु के मामले हमारे लिए समस्य़ा है।  इस पर विचार विमर्श किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जल्द ही इस तरह की समस्य़ाओं से भी निजात भी मिलेगी। जीवानी ने कहा कि हम लोग लगातार प्रयास कर रहे हैं कि प्रसव जानकार और संस्थागत हो। बावजूद इसके ग्रामीण क्षेत्रों में जानकारी के अभाव प्रसव कराया जाता है। जो ना केवल शिशुओं के लिए बल्कि माताओं के लिए भी जानलेवा साबित होता है।

                   कार्यशाला का उद्घाटन संभागायुक्त सोनमणि वोरा ने किया। उन्होंने अपने संक्षिप्त उद्बबोधन में विशेषज्ञों और चिकित्सकों को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम से समाज को नई दिशा और जानकारी मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *