पूर्व कलेक्टर के पास काम नहीं,इसलिए मांग रहे इस्तीफा,खाली भाजपा नेता चिल्ला रहे गोबर गोबर,शराबबंदी पर मंत्री लखमा ने कही ये बात

बिलासपुर।ओपी चौधरी को इस्तीफा मांगने का कोई अधिकार नहीं है । वह कलेक्टर से इस्तीफा दिया है। इसलिए सब से इस्तीफा मांगते घूम रहा है। सरकार को कोई खतरा नहीं है.शराबबंदी होगी जब होगी तब होगी। प्रदेश में दो प्रवक्ता बनाए गए हैं। इसलिए आदिवासी प्रवक्ता की कोई जरूरत नहीं है ।यह बात पत्रकारों से उद्योग एवं आबकारी मंत्री आबकारी मंत्री ने कहीं।अमरकंटक से लौटने के बाद उद्योग एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने बिलासपुर में पत्रकारों से बातचीत की। लखमा ने बताया की बाबा का दर्शन करने गया था। प्रदेश वालों के लिए खुशहाली का आशीर्वाद लिया हु। आशीर्वाद मिल गया है अब कुछ गड़बड़ नही होगा।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए क्लिक कीजिये

  सवाल-जवाब के दौरान आबकारी मंत्री ने कहा ओपी चौधरी कलेक्टर थे  । अपना काम ठीक से नही किया और इस्तीफा देकर नेता बन गए। चुनाव हार गया अब सबसे इस्तीफा मांगते घूम रहा है। वह कौन होते है। इस्तीफा देने वाले को इस्तीफा मांगने का अधिकारी नहीं है ।लखमा ने कहा उनके पास कोई काम नहीं है। इसलिए इस्तीफा मांग रहा है। 

 मुख्यमंत्री के आवास के सामने एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर लिया ।अब सरकार उसको पागल करार दे रही है।इस पर लखमा ने कहा कि उनके परिजनों ने बताया कि वह व्यक्ति डिस्टर्ब था। अब भाजपा वाले लोग चिल्लाना बंद करे और बताए कि जब रमन सिंह मुख्यमंत्री थे तो विकलांग ने आत्मदाह किया, तब क्यो कुछ नही बोले। लेकिन मैं प्रदेशवासियों से निवेदन करता हु की जिंदगी अनमोल है आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठाऐ। भाजपा पर निशाना साधते हुए मंत्री ने कहा-आत्महत्या चिल्लाने वालों को बोलने का कोई अधिकार नही।मौत की  राजनीति ठीक नहीं है।

 गोबर के सवाल पर लखमा ने बताया अजय चंद्राकर को मीडिया में बने रहने का शौक है। इसलिए चिल्ला रहे है।उनकी मानसिक हालत ठीक नही है।  भारतीय जनता पार्टी के नेताओ  के पास कोई काम नहीं है ।इसलिए गोबर गोबर चिल्ला रहे हैं । अपना ही गोबर कर रहे है।

  मंत्री ने कहा प्रदेश सरकार अच्छा काम कर रही रही है। युवा किसान गरीबों की मदद कर रही है।इसलिए भाजपाई गोबर गोबर चिल्ला रहे है।एनटीपीसी एसईसीएल और एनटीपीसी भू विस्थापित लोगो को  न तो रोजगार मिला और न ही मुआवजा। सालो से पीड़ित भटक रहे न्याय कब मिलेगा। लखमा ने कहा  15 तारीख को बैठक लूंगा और सब काम ठीक कर दूंगा।सबको नौकरी मिलेगी।

 आदिवासी  प्रवक्ता के सवाल पर कहा कि इसकी जरूरत नही।कांग्रेस सभी धर्मों की पार्टी है।  दोनों प्रवक्ता रविन्द्र चौबे और मोहम्मद अखबार ठीक है। वैसे भी आदिवासियो को बहुत स्थान मिला है । मंत्री पद पर आदिवासी है पार्टी अध्यक्ष आदिवासी है महिला कांग्रेस अध्यक्ष भी आदिवासी है। अब कितना आदिवासी चाहिए।फिलहाल प्रवक्ता की जरूरत नही। 

 लखमा ने बताया कांग्रेस में जात पात धर्म से नही योग्यता पर पद दिया जाता है। अपने आप को घिरते देख लखमा ने पत्रकारों के सवाल को अंत मे टाल दिया।

  जोगी आपके गुरु थे। प्रदेश के बड़े आदिवासी नेता रहे है। फिर जोगी के मरवाही गढ़ को कैसे भेदेगे। लखमा ने बताया अच्छा नही लग रहा जोगी हमारे बीच से चले गए। लेकिन मैं चुनाव नही लड़ रहा हू। कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ रही है। जोगी आदिवासी है या नही कोर्ट को बताना है। लेकिन मरवाही चुनाव में कांग्रेस की ही जीत होगी।अमित जोगी को हराने सरकार मरवाही में खूब ताकत लगा रही । क्या अमित जोगी भारी पड़ रहे है।लखमा ने बताया चुनाब छोटा हो या बड़ा ताकत लगा कर ही लडा जाता है। कोई भी लड़े जीत हमारी होगी। 

 शराबबंदी के सवाल पर लखमा ने कहा लॉकडाउन के दौरान तीन लोगों की मौत हो गई इसलिए शराब दुकान खोल गया। लोग आंदोलन भी कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि दुकान राज्य सरकार ने नहीं बल्कि केंद्र सरकार ने खोला है। छत्तीसगढ़ किसान मजदूरों का प्रदेश है । इसलिए मेहनत करने के बाद लोग शराब पीते है। दूसरे राज्य में नही पीते। मतलब ताकत बढ़ती है।लखमा ने शराब से राजस्व भी मिलता है।उन्होंने यह भी कहा चुनाव के समय शराबबन्दी होगी। सत्यनारायण शर्मा कमेटी की रिपोर्ट मिलने के बाद शराबबंदी का फैसला लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *