जशपुर में ट्रामा वेन खरीदी में देरी, MLA मिंज ने कहा – जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई हो

जशपुरनगर-कुनकुरी विधायक यू डी मिंज की माँग पर प्रदेश यशस्वी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और संवेदनशील स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने 5 फ़रवरी 2019 के कुनकुरी के प्रथम प्रवास में ट्रामा वेन की देने की घोषणा की थी। इसके बाद मई 2019 माह में दुबारा सरगुजा आदिवासी विकास प्राधिकरण की बैठक में जिले के लिये 3 ट्रामा वेन खरीदने के लिए कलेक्टर जशपुर को मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया जिस पर कोई कारवाई नहीं की गई जो की दुर्भाग्यपूर्ण है जिले का स्वस्थ अमला इतना लापरवाह है कि मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री की घोषणा को ही नजरंदाज कर गए।संसदीय सचिव आबकारी, एवं उद्योग विभाग एवं कुनकुरी विधायक यू.डी. मिंज के द्वारा पुनः इसमें रुचि दिखाते हुए जिले के लिए ट्रामा वेन की माँग को लेकर स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री टी.एस. सिंहदेव से जून 2019 में मुलाकात की जिस पर उन्होंने तत्काल ट्रामा वेन की डीएमएफ मद से दी स्वीकृति की अनुशंसा की है जिस पर प्रभारी मंत्री ने स्वीकृति दी कलेक्टर जशपुर ने ट्रामा वेन खरीदने के लिए जिसे नवंबर माह 2019 में डीएमएफ से स्वीकृति देकर कलेक्टर जशपुर ने क्रय एजेंसी मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी को बनाया ।

मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी के द्वारा इसका जिम्मा DPM एनआरएचएम को दिया जिन्होंने ने जानबूझकर इसे रोककर रखा । एक साल से इसमें किसी प्रक्रिया न करना ही इस बात का प्रमाण है कि इन्हें जनहित के कार्यों को करने में कोई विशेष रूचि नहीं है यदि DPM एनआरएचएम गणपत नायक की संवेदशीलता होती तो अवश्य ही इसे आगे बढ़ कर कार्य को कराते और जनता को अभी तक ट्रामा वेन की सौगात मिल जाती परंतु विभागीय अधिकारियों की असंवेदनशीलता और लापरवाही के कारण जनता को लाभ नहीं मिल पा रहा है ऐसे अधिकारी पर कड़ी करवाई किये जाने की आवश्यकता है।

विदित हो जशपुर जिले से होकर राष्ट्रीय राजमार्ग 43 गुजरती है। सडकों के खराब होने के कारण आये दिन गंभीर दुर्घटना घटित होते रहती है ।समय पर के दुर्घटनाग्रस्त लोगों को उपचार नहीं मिल पाने के कारण अधिकांश लोगों की मृत्यु हो जाती है। ट्रामा वेन नहीं खरीदी किये जाने के कारण दुर्घटनाओं से हो रही मृत्यु के लिये स्वस्थ विभाग जिम्मेदार है ।याचूॅकि जशपुर स्वास्थ्य सुविधाओं की दृष्टि से अत्यंत पिछडा हुआ है। दुर्घटनाग्रस्त लोग भी गरीब परिवार से होते हैं जिनके पास संसाधनों की कमी होती है। ऐसे में लोगों का उपचार भी संभव नहीं हो पाता है।जो कि जशपुर जिले की जनता के लिए पीडाजनक होता है।

ज्ञात हो कि पिछली सरकार में जशपुर जिले के लिये ट्रामा सेन्टर एवं 02 ट्रामा स्वीकृत किये गये थे जिसे पूर्व मुख्यमंत्री जी वापस राजनांदगाॅंव के लिये परिवर्तित कर दिये। बार बार ट्रामा वेन की माॅंग किये जाने के बाद भी इसे जशपुर नहीं किया गया। इससे जिले के जनता में आक्रोश रहा । संसदीय सचिव छत्तीशगढ़ शासन एवं विधायक कुनकुरी यू .डी. मिंज ने जिले की जनता की ओर से ट्रामा सेन्टर एवं 02 ट्रामा की माॅंग की। जिला स्थापना के 21 वें वर्षगाांठ के अवसर पर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने जशपुर जिले की जनता को ट्रामा वेन की सौगात दी कलेक्टर जशपुर ने खनिज न्यास निधि से स्वीकृति देते हुए 45 लाख की राशि मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी को कार्य एजेंसी नियुक्त किया है।

संसदीय सचिव छत्तीशगढ़ शासन एवं विधायक कुनकुरी श्री यू .डी. मिंज ने स्वास्थ्य विभाग के लापरवाह और कामचोर भ्रष्ट अधिकारियों जो जनता की जान से खिलवाड़ कर रहें है वह अक्षम्य है ऐसे निक्कमे अधिकारी जो जनहित के काम मे रूचि नहीं दिखा रहे उनके विरुद्ध जाँच कर करवाई करने के लिए कहा है।संसदीय सचिव छत्तीशगढ़ शासन एवं विधायक कुनकुरी श्री यू .डी. मिंज ने कहा कि यह जिले के लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ करने वाले अधिकारी बर्दाश्त नहीं किये जा सकते हैं।जब प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल , स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री टी एस सिंहदेव जी और खाद्य नागरिक आपूर्ति उपभोक्ता संरक्षण संस्कृति मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने ट्रामा वेन की सौगात दी है इसके बाद भी अधिकारी इस के लिए असंवेदनशील हैं तो तत्काल ऐसे अधिकारियों पर करवाई की जानी चाहिये।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...