डॉ रमन बोले लोकसुराज अभियान,लंबी विकास यात्रा की शुरुआत

collage_cm♦जनसम्पर्क विभाग ने सीएम को भेट किया फोटो एल्बम और कोलाज
रायपुर।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने रविवार को लोक सुराज अभियान की सफलता में योगदान के लिए मुख्यमंत्री सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों, मुख्यमंत्री सुरक्षा कार्यालय और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के अधिकारियों और जवानों, विमानन विभाग के स्टॉफ और जनसम्पर्क संचालनालय के अधिकारियों तथा कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया और उन्हें प्रशस्ति पत्र भेंट कर उनके सम्मान में रात्रि भोज का भी आयोजन किया।सीएम डॉ. रमन ने कहा कि यह प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान का समापन नहीं, बल्कि और लम्बी विकास यात्रा की तैयारी की शुरूआत है। यह विकास यात्रा नक्सलवाद जैसी गंभीर समस्या की समाप्ति और गांव, गरीब तथा किसानों के जीवन में खुशहाली के लिए होगी। उन्होंने कहा भीषण गर्मी के इस मौसम में 84 दिनों के इस अभियान को सफल बनाने के लिए राज्य के सभी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों ने काफी पसीना बहाया है और जब पसीना बहता है तभी परिणाम भी मिलता है।

                            इस मौके पर जनसम्पर्क संचालनालय की तरफ से मुख्यमंत्री को लोक सुराज अभियान 2017 के छायाचित्रों का एलबम और कोलाज भेंट किया गया।डॉ सिंह ने कहा कि लोक सुराज अभियान में इन सभी अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने राज्य स्तर पर टीम वर्क के रूप में सराहनीय योगदान दिया है।

                            मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशव्यापी लोक सुराज अभियान में राज्य, जिला, विकासखण्ड और ग्राम स्तर के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी सम्पूर्ण अभियान में काफी उत्साह के साथ अपना योगदान दिया है। इसके साथ ही लोक सुराज के कार्यक्रमों के निर्धारण और राज्य स्तर से अभियान की मॉनिटरिंग में भी अधिकारियों का उल्लेखनीय योगदान रहा है।

                                उन्होंने कहा कि यह अभियान अब तक का सर्वाधिक लम्बे समय तक आयोजित, सबसे बेहतर, परिणाम देने वाला अभियान रहा।डॉ. रमन सिंह ने कहा कि वाहन चालकों और सुरक्षा जवानों से लेकर वरिष्ठ और कनिष्ठ सभी श्रेणियों के अधिकारियों और कर्मचारियों ने टीम वर्क के रूप में काम किया। सबने अपनी-अपनी सरकारी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन किया।डॉ.सिंह ने इस अभियान में प्राप्त अनुभवों का जिक्र करते हुए कहा कि अभियान से मालूम हुआ कि छत्तीसगढ़ के गांव-गांव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की योजनाओं ने अपनी अमिट छाप छोड़ी है।

                                समारोह में मुख्य सचिव विवेक ढांड ने पूरे अभियान के अपने अनुभवों को साझा किया।उन्होंने कहा कि प्रदेश के लगभग 20 हजार गांवों में से मुख्यमंत्री जी को कौन से गांव में हेलीकॉप्टर से अचानक उतरना है,यह स्वयं मुख्यमंत्री द्वारा हेलीकॉप्टर में ही तय किया जाता था। गर्मियों में राज्य के हर इलाके में मौसम के अलग-अलग रंग देखने को मिले। मुख्यमंत्री जी ने हर चौपाल में गांवों के लिए जल संरक्षण की जरूरत पर विशेष बल दिया।

                                समारोह में स्वागत भाषण मुख्यमंत्री के सचिव सुबोध कुमार सिंह ने दिया।कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव एन. बैजेन्द्र कुमार, पुलिस महानिदेशक ए.एन. उपाध्याय, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, जनसम्पर्क विभाग के सचिव संतोष मिश्रा और संचालक जनसम्पर्क राजेश सुकुमार टोप्पो सहित सभी संबंधित विभागों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...