डॉक्टर साहब…रिएक्शन की गोली आदिवासियों को नहीं…अडानी को चाहिए..जोगी ने कहा..अन्यथा बदल दिए जाएंगे

बिलासपुर—-डॉक्टर साहब रिएक्शन की गोली ‘आदिवासियों’ को नहीं अदानी’ को दें…डॉक्टर साहब…अकेले भूराजस्व संशोधन बिल वापस लेने से नहीं बल्कि घाटभर्रा में आदिवासियों के निरस्त पट्टों को भी बहाल करें…विपक्ष को आपने गोली देकर सुला दिया है…लेकिन जनता जाग रही है…अब डॉक्टर को बदल कर ही रहेगी..यह बातें प्रेस नोट जारी कर अमित जोगी ने कही है।

कैबिनेट में आदिवासी विरोधी भू-राजस्व संशोधन बिल वापस लिए जाने को मरवाही विधायक अमित जोगी ने नाकाफी बताया है। जोगी ने कहा कि सरकार आदिवासियों की हितैषी होती तो संशोधन बिल लाती ही नहीं। जोगी ने मांग की है कि सरकार सरगुजा जिले के घाट्भार्रा में 900 आदिवासियों के निरस्त पट्टों को तत्काल बहाल करे।

जोगी ने मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय के रियक्शन वाली दवा वापस लिए जाने के बयान पर कहा कि डॉक्टर साहब रियक्शन वाली दवा आदिवासियों को नहीं…अदानी को दें…इसके बाद ही छत्तीसगढ़ के आदिवासी मानेंगे कि सरकार आदिवासी हित में काम कर रही है। मुख्यमंत्री घाट्भर्रा पीड़ित आदिवासियों को अधिकार नहीं दे रहे हैं ?  मामले में विपक्ष की चुप्पी पर भी जोगी ने निशाना साधते हुए कहा कि अदानी का माल का परिवहन नेता प्रतिपक्ष की ट्रांसपोर्ट कंपनी करती है। इसलिए विपक्ष मामले में कुछ बोलने से बच रहा है। फिर डॉक्टर साहब ने सोने कि गोली विपक्ष के नेताओं को भी खिला दी है ।

जोगी ने कहा कि भू-राजस्व संशोधन मामले में केवल खाना-पूर्ति कर आदिवासियों को भ्रमित करने का काम न करें। आदिवासियों को जमीन वापस दे। जमीन पर काबिज उद्योगपतियों और उनके साझेदारों के खिलाफ कार्यवाही करे।  अन्यथा रिएक्शन वाले गोली देने वाले डॉक्टर को छत्तीसगढ़ की जनता बदल देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *