कदम वेस्ट से वेल्थ की ओर…अमर ने लहराया 167 फिट ऊंचा परचम…बताया भारतीयों की आन बान शान है तिरंगा

बिलासपुर– भारत की आन बान शान तिरंगा को देख आजादी के दिवानों के प्रति देश का सिर अपने आप आदर के साथ झुक जाता है। इसलिए ही शहर के हृदय स्थल में  51 मीटर और 167 फीट ऊंचे तिरंगा झंडा को स्थापित करने का निर्णय लिया गया। ताकि शहरवासियों को शहर के सभी दिशाओं से भारत के आन बान को देखने का अवसर मिले। देखने वालों के मन खुश हो..और सीना गर्व से चौड़ा हो जाए। यह बातें नगरीय निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने रिवर व्यूव चौपाटी स्थित शहर के सबसे ऊंचे तिरंगे झंडे के लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान कही।
            निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने आज शाम चार बजे रिवर व्यू स्थित अरपा तट पर जिले के सबसे ऊचे और बड़े तिरंगा झण्डा को जनता के नाम समर्पित किया। निकाय मंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर झंडा शहर के बीच स्थापित किया गया। निश्चित रूप से यह हमारे और पूरे शहरवासियों के लिए सौभाग्य और गौरव की बात है। झंडा हमेशा राष्ट्रपिता के विचार और उनकी बातों को अनुशरण करने के साथ राष्ट्रीयता और राष्ट्रप्रेम की याद दिलाता रहेगा।
            मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उनके विचार और सपनों को साकार करने का संकल्प लिया है। प्रदेश में इसकी शुरुआत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने खादी ग्रामोउद्योग बोर्ड के कार्यक्रम में गांधी जी की पुस्तक और अन्य संग्रह से संबंधित म्यूजियम का शुभारंभ कर किया है । अमर ने बताया कि 15 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री मोदी ने गांधी जी की 150वीं जयंती पर देश को खुले में शौच मुक्त करने का भी संकल्प लिया है। प्रदेश को लक्ष्य के एक साल पहले  ही महात्मा गांधी जी की जयंती पर पूर्ण रूप से खुले शौच से मुक्त कर दिया गया है।
                  मंत्री ने बताया कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने कचरे के निबटान को लेकर कई राज्यों के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है।  पूरे देश में अंबिकापुर मॉडल मिशाल बन चुका है। एनजीटी ने प्रशंसा करते हुए इसे अपनाने की सलाह देश के सभी राज्यों को दी है। कचरे का 90 प्रतिशत विधिवत वैज्ञानिक तरीके से निबटान करने वाला यदि कोई राज्य है तो छत्तीसगढ़। प्रदेश में सभी नगरीय निकाय में मिशन क्लीन सिटी के तहत कचरे का विधिवत निबटान हो रहा है। अभियान से जु़ड़ी महिलाएं लाभ कमा रही है। बिलासपुर में कचरा निबटान के लिए कछार में आरडीएफ प्लांट शुरू हो गया है।
                 रायपुर, दुर्ग और भिलाई में भी प्लांट स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है। प्लांट में जहां एक तरफ गीला कचरे से खाद बनाया जाएगा। सूखा कचरे आरडीएफ बनेगा, सीमेंट उद्योग में ईंधन के रूप में उपयोग होगा। मंत्री ने कहा कि झुग्गी-झोपड़ी और मलीन बस्तियों में रहने वालों को अच्छा जीवन मिले…गाधी जी की यही सोच थी। प्रधानमंत्री  ने संकल्प लिया है कि 2022 तक देश में कोई भी बेघर नहीं रहेगा। प्रदेश की नगरीय निकायों में 2 लाख 10 हजार मकान बनाने की स्वीकृति केंद्र सरकार से लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बिलासपुर शहर में 1 हजार मकान बनाने का कार्य चल रहा है। 20 हजार और मकान बनाने की दिशा में कार्य हो रहा है।
                       कार्यक्रम के पहले निगम कमिश्नर श्री सौमिल रंजन चौबे ने झंडा स्थापित करने के कार्य पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि कार्यादेश जारी होने के एक माह के भीतर ही 51 मीटर ऊंचा तिरंगा झंडा आपके सामने बनकर तैयार है। इसके लिए निगम की पूरी टीम ने बहुत मेहनत की है। झंडा को स्थापित करने के दौरान इसके फाउंडेशन पर बहुत ज्यादा कार्य किया गया। आर्मी वालों से भी बात की गई। इसी तरह आज निगम क्षेत्र में 900 आबादी पट्टे का वितरण किया जा रहा है। निश्चित रूप से यह अबियान गांधी जयंती के पावन पर्व को और खास बनाता है। कार्यक्रम में मेयर किशोर राय, सभापति अशोक विधानी, जनकार्य प्रभारी उमेशचंद्र कुमार, एमआईसी सदस्य श्याम साहू एल्डरमेन, मनीष अग्रवाल, प्रवीर दुबे, एल्डरमेन महेश चंद्रिकापुरे के रूप में उपस्थित थे।
कार्यक्रम में उत्तराखंड के उच्च शिक्षा मंत्री शामिल
कार्यक्रम में अतिथि के रूप में उत्तराखंड के उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत भी शामिल हुए। रावत ने  कहा यहां स्थापित 51 मीटर तिरंगा झंडे को शहर के लिए गौरव की बात है।
पैराशूट कपड़े से बना तिरंगा
            तिरंगा झंडा विशेष प्रकार के चमकिला पैराशूट कपड़े से बना है। झण्डे की लंबाई और चौड़ाई 36 ः 54 फीट है। झंडा टावर के अंदर विशेष मोटर स्थापित किया गया है। जिसपर लगे रस्सा से तिरंगा झंडा ऊंचा रहने के साथ हवा में लहराएगा। यह पूर्ण रूप से विद्युतीकरण पर आधारित है। बटन दबाकर नीचे उतारने के साथ फहराया जा सकेगा।
9 हजार बहनों को मिला काम 10 करोड़ के कचरा बेचे
अपने संबोधन में निकाय मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कचरे के विधिवत निबटान के लिए अलग से मिशन क्लीन सिटी बनाया गया। प्रदेश की 9 हजार बहनों को रोजगार मिला।  अभी तक निकायों ने 10 करोड़ से ज्यादा का कचरा बेचा है। इस तरह अब प्रदेश वेस्ट से वेल्थ की ओर बढ़ रहा है।
छात्रों का सम्मान
            कार्यक्रम में निगम की स्वच्छता ही सेवा अभियान के तहत इंटर स्कूल चित्रकला, निबंध, मॉडल स्पर्धा और कचरा महोत्सव में उत्कृष्ठ प्रदर्शन के लिए प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान दिया गया। छात्रों को मंत्री अग्रवाल ने नगद राशि और प्रमाण पत्र के साथ सम्मानित किया।
loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...