मस्तूरी व्यापारी संघ में आक्रोश…एसपी से की लिखित शिकायत…कहा..नहीं चाहिए उगाही वाला थानेदार..

बिलासपुर— मस्तूरी व्यापारी संघ ने पुलिस कप्तान को लिखित शिकायत कर मस्तूरी थानेदार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मस्तूरी के व्यापारियों ने बताया कि गांजा और मवेशी तस्करों को मुखबिर के सहयोग से तत्काल पकड़ लिया जाता है। मजाल है कि चोरी के बाद कोई चोर या सटोरिया को मस्तूरी पुलिस ने अभी तक पकड़ा हो। खासकर थानेदार डी.के.कुर्रे के थाना प्रभारी बनने के बाद चोरों और सटोरियों के हौसले बुलंद हैं।

                       मस्तूरी व्यापारियों का संगठन आज पुलिस कप्तान कार्यालय पहुंचकर मस्तूरी थाना प्रभारी की लिखित शिकायत में स्थानान्तरित करने को कहा है। व्यापारियों ने बताया कि मस्तूरी थानेदार को चोरी या सटोरियों की शिकायत पसंद नहीं है। यहां तक चोरी और जुआ सट्टा के खिलाफ रिपोर्ट भी नहीं लिखते हैं।

                                       व्यापारियों ने बताया कि मस्तूरी मुख्य मार्ग पर स्थित एक दुकान में 19 फरवरी को चोरी होती है। लेकिन रिपोर्ट नहीं लिखा जाता है। जब दबाव बनाया गया तो एफआईआर तो लिख लिया गया। लेकिन जांच पड़ताल आज तक नहीं किया गया। दुकान से क्या कुछ चोरी हुई है…पुलिस ने तफ्तीश करना उचित नहीं समझा। जिसके कारण चोरों और जुआरियों के हौंसले बुलन्द हैं। व्यापारियों ने बताया कि डी.के.कुर्रे के थानेदारी में अब तक छोटी बड़ी चोरी की कई बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं। मजाल है कि अभी तक एक भी चोरी का खुलासा हुआ हो। या फिर किसी जुआरी या सटोरिया को पकड़ा गया हो।

                व्यापारियों ने बताया कि जब मवेशी या गांजा तस्करी का मामला हो तो पुलिस के मुखबिर सक्रिय हो जाते हैं। लेकिन आज तक मुखबिर की सूचना पर कोई चोर नहीं पकड़ा गया है। जाहिर सी बात है कि दाल में कुछ काला है।

               व्यापारियों ने मस्तूरी पुलिस पर उगाही करने का आरोप लगाया है। व्यापारियों ने निवेदन किया है कि मस्तूरी थाना प्रभारी डी.के.कुर्रे का स्थानांतरण किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *