नाराज गृहमंत्री बोले…कार्ययोजना बनाकर होगी कार्रवाई….षड़ंयत्र का लगाएंगे पता…डीएसपी को भी मिलेगा न्याय

बिलासपुर—ताम्रध्वज साहू ने बताया कि योजना बनाकर भू माफियों के खिलाफ सख्त अभियान चलाया जाएगा। सड़क निर्माण में गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। निलंबित डीएसपी स्तर के इंटेलिजेन्स कर्मचारी के मामले को गंभीरता से लिया जाएगा। संतोष कुमार बंजारे को जिम्मेदार अधिकारियों के पास जाना चाहिए। उन्हें आरटीआई के लिए चक्कर नहीं काटना चाहिए। उनके साथ अब तक क्या हुआ इस बात का पता लगाया जाएगा। दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई भी की जाएगी।

                               पत्रकारों के साथ चर्चा के दौरान नाराज गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि भू माफियों को लेकर बिलासपुर से लगातार शिकायत मिल रही है। मामला गंभीर है। इस पर अधिकारियों के साथ विचार विमर्श करूंगा। भू माफियों के खिलाफ कार्ययोजना बनाकर अभियान चलाया जाएगा। बैठक में जमीन माफियों के आतंक को लेकर विचार विमर्श कर उचित कार्रवाई का निर्देश भी दिया जाएगा। इस दौरान ताम्र ध्वज साहू को पत्रकारों ने एसबीआर कालेज चैरिटी की जमीन को कूटरचना बनाकर हड़पने के साथ ही राजकिशोर नगर में पत्रकार की जमीन को हड़पने के बारे में बताया गया। साथ ही भू-माफियों के आतंक से् गायब डॉ.प्रकाश सुलतानिया मामले की जानकारी भी दी गयी।

                      बिना जांच और प्रमाणों को दरकिनार कर डंटेलीजेन्स आफिसर को निलंबित कर जेल भेज दिया गया। आज संतोष कुमार बंजारे अपनी बेगुनाही को साबित करने आरटीआई का सहारा लेने को मजबूर है। लगता है पुलिस प्रशासन डीएसपी स्तर के अनुसूचित जाति कर्मचारी को परेशान कर रहा है।  ताम्रध्वज ने कहा कि संतोष बंजारे को आरटीआई के लिए चक्कर नहीं काटना चाहिए। अपनी बातों को सक्षम अधिकारी के सामने रखना चाहिए।

                       ताम्रध्वज ने कहा कि संतोष कुमार षड़यंत्र का शिकार हुआ है। इस बात का अधिकारियों से पता लगाउंगा..कि आखिर माजरा क्या है। किसी भी कर्मचारी को बेवजह परेशान क्यों किया जा रहा है। मामले में तह तक जाने का प्रयास होगा। निलंबन प्रक्रिया का भी पता लगाउंगा। किसी भी अनुसूचित जाति कर्मचारी को परेशान करने का सवाल ही नहीं उठता है। सबके हितों की रक्षा होनी चाहिए। संतोष बंजारे के मामले में पूरी जानकारी के साथ आवश्यक और उचित कार्रवाई होगी।

                     केन्द्रीय कारागार में एतिहासिक बैरक टूटने और माखन लाल चतुर्र्वेदी की यादों मिटाए जाने के सवाल पर गृहमंत्री ने कहा इस बात की जानकारी नहीं है। पता लगाएंगे….साथ ही साहू ने कहा कि अभी जेल निरीक्षण करने नहीं जाउंगा….। जब जाउंगा..जानकारी जेल के किसी अधिकारी को भी नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *