जोगी को गिरफ्तार करने आदिवासी समाज का दबाव…एसपी ने कहा मामला प्रक्रियाधीन..समीरा ने लगाया आरोप…रसूखदार को बचा रही पुलिस

   बिलासपुर— समीरा पैकरा और पेन्ड्रा मरवाही जमीदारी के सप्तगढ़ी कंवर गोड़ समाज के उपाध्यक्ष धन सिंह की अगुवाई में समाज सैकड़ों लोगों ने पुलिस कप्तान कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान अमित जोगी और अजित जोगी के खिलाफ समाज के लोगों ने फर्जी आदिवासी के नारे लगाए। कुछ देर बाद  पुैलिस कप्तान से मुलाकात कर समीरा पैकरा और कंवर समाज के नेता धनसिंह ने अमित जोगी के गिऱफ्तारी की मांग की। पुलिस कप्ताने बताया कि यथोचिक कार्रवाई होगी। बातचीत के दौरान समीरा पैकरा ने कहा कि एफआईआर दर्ज होने के बाद भी अमित जोगी को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। इसलिए हम लोगों ने गिरफ्तारी का फैसला किया है। ़

              मरवाही विधानसभा के सैकड़ोंं आदिवासी आज जिला पंचायत उपाध्याक्ष समीरा पैकरा और पेन्ड्रा जमीदारी कंवर सप्तगढ़ी समाज के उपाध्यक्ष धनसिंह की अगुवाई में कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान समीरा पैकरा और उनके समर्थकों ने अजीत और अमित जोगी के खिलाफ फर्जी आद्वासी के नारे लगाए। चूंकि अवकाश का दिन होने के कारण पुलिस कप्तान अपने कार्यालय में नहीं थे। खबर मिलते ही कुछ देर बाद प्रशांत अग्रवाल कार्यालय पहुंचे।

                 समीरा पैकरा और उनके समर्थकों ने पुलिस कप्तान को बताया कि फरवरी में गौरेला थाने में अमित जोगी के खिलाफ निवास और जन्म स्थान को लेकर एफईआर दर्ज है। सात महीने बीतने के बावजूद अमित जोगी की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है। समीरा ने बताया कि साल 2013 में अमित जोगी ने मरवाही से चुनाव लड़ा। उन्होने चुनाव आयोग को गलत जानकारी दी है। जोगी ने अपना जन्म जोगीसार होने बताया है। जबकि उन्होने अपने अलग दस्तावेज में जन्म स्थान अलग अलग बताया है। निवास में जन्म स्थान अलग है। जन्म प्रमाण पत्र भी अलग है। उन्होने कभी अपने को टेक्सास तो कभी इन्दौर में जन्म होना बताया है। चुनाव लड़ते समय उन्होने जोगीसार में जन्म लेने की जानकारी दी है।

               पत्रकारों से बातचीत में समीरा ने बताया कि जोगी का जन्म वर्ष भी अलग है। आखिर उसमें सच क्या है…जोगी ने अभी तक कुछ नही बताया है। समीरा ने बताया कि कानून सबके लिए बराबर है। सात महीने पहले गौरेला थाना में अमित जोगी के खिलाफ 420 धारा के तहत अपराध दर्ज है। यह जा

नते हुए भी कि कानून सबके लिए बराबर है। लेकिन पुलिस प्रशासन अमित जोगी को गिरफ्तार करने से बच रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि अमित जोगी प्रभावशाली व्यक्ति के बेटे हैं।

          समीरा ने बताया कि कानून सबके लिए बराबर है। लेकिन ऐसा लगता है कि आरोपी को संरक्षण दिया जा रहा है। हमने पुलिस कप्तान से अमित जोगी की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांंग की है।

प्रक्रिया के बाद होगी कार्रवाई

                              धरना घेराव और ज्ञापन के बीच पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि समीरा पैकरा ने लिखित में शिकायत की है। उनकी बातों को भी गंभीरता से सुना है। चूंकि मामले में छानबीन की प्रक्रिया चल रही है। जल्द ही समुचित जानकारी और पड़ताल के बाद उचित कदम उठाया जाएगा। जोगी के खिलाफ गौरेला थाना में एफआईआर भी दर्ज है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...