खाद्य मंत्री भगत ने कहा..क्या पूछकर बोनस का एलान किया था..आर्थिक नाकेबन्दी भी आंदोलन का हिस्सा

बिलासपुर— राजनैतिक दल जब अपना घोषणा पत्र बनाता है तो क्या दूसरे दल से पूछता है। क्या भाजपा ने पूछा था कि हम उनसे पूछे। यदि भाजपा नेता किसानों के हिमायती है तो प्रधानमंत्री, खाद्यमंत्री, कृषि मंत्री को पत्र लिखें..दिल्ली साथ चलें। धान का समर्थन मूल्य 2500 करने का दबाव बनाए। लोगों के हित में..अपनी बात को मनवाने के लिए..जनहित में कार्य करने के लिए आर्थिक नाकेबन्दी भी एक बात है। फिलहाल इसकी जरूरत पड़ते अभी दिखाई नहीं दे रही है। यह बातें छत्तीसगढ़ खाद्यमंत्री अमरजीत सिंह भगत ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। अमर जीत ने बताया कि राउत नाच महोत्सव में शिरकत करने बिलासपुर प्रवास पर हैं।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्स्स्एप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

                             छत्तीसगढ़ सरकार खाद्यमंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि किसानों और जनहित में सभी कदम उचित है। आर्थिक नाकेबन्दी भी उसका हिस्सा है। फिलहाल जरूरत नहीं पड़ेगी। धान का समर्थन मूल्य फिलहाल सुलझते हुए नजर आ रहा है। इसलिए इस पर अभी कुछ कहना उचित नहीं है।

              केन्द्रीय इस्पात मंत्री ने कहा कि क्या हमसे पूछ कर समर्थन मूल्य बढ़ाया गया है। सवाल के जवाब में अमरजीत ने कहा कि राजनैतिक दल का अपना एजेन्डा होता है। क्या उन्होने हमसे पूछकर तैयार किया है क्या। पहले जब बोनस की बात हुई थी..क्या किसी से पूछकर उन्होने तैयार किया था। जबकि उस समय केन्द्र में कांग्रेस की सरकार थी।

          भाजपा का आरोप है कि धान की देर से खरीदी से किसानों को नुकसान होगा। भगत ने आरोप से इंकार करते हुए कहा कि  मानसून देर तक रहा…धान खरीदी का समय बढाया जाना उचित है। किसी किसान को नुकसान नहीं होगा। भूपेश सरकार किसानों के हित के लिए हमेशा सजग है। सुखद नुकसान और भण्डारण समस्या की कोई बात नहीं है।

               अब साबित हो गया है कि फर्जी राशन कार्ड मामले में अधिकारियों का भी हाथ है। एक टेक्निशियन को पकड़ा गया है। बड़ी मछली कब जाल में फंसेगी। भग ने बताया कि शुरूआत हो चुकी है। जांच के बाद दोषी पकड़े जाएँगे। बड़ी व्यवस्था में थोड़ी बहुत चूक होती है। लेकिन किसी भी दोषी को नहीं छोड़ा जाएगा।

             जानकारी सामने आयी है कि राशन कार्ड बनने से पहले ही ठेकेदार को दस लाख का भुगतान कर दिया गया। इसकी विशेष तो होगी। भगत ने कहा जांच हो रही है..सब स्प्ष्ट हो जाएगा। किसी को नहीं छोड़ा जाएगा। स्थानांतरित किए गए कर्मचारी यदि दोषी है तो उन्हें भी नहीं छोड़ा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *