2 साल की सेवा पूर्ण करने वाले शिक्षाकर्मियों को संविलियन की सौगात दे सरकार,टीचर्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से की मांग

रायपुर।छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष संजय शर्मा, प्रदेश संयोजक सुधीर प्रधान, वाजीद खान, प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, प्रांतीय सचिव मनोज सनाढ्य, प्रांतीय कोषाध्यक्ष शैलेन्द्र पारीक ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल से  मांग करते हुए कहा है कि विधनसभा का सत्र चल रहा है, यह अच्छा अवसर है कि जनघोषणा पत्र में किये वादे  2 वर्ष पूर्ण करने पर संविलियन की घोषणा का सरकार क्रियान्वयन करें।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने यहां क्लिक करे

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि 16366 शिक्षा कर्मियों का ही संविलियन शेष है, ऐसे में एक साथ सम्पूर्ण संविलियन किया जावे, जनवरी 2020 में करीब 07 हजार शिक्षा कर्मियों का नियमानुसार संविलियन होगा, जनवरी 2020 के बाद 9366 शिक्षा कर्मी ही रह जाएंगे संविलियन से वंचित, अतः  जनघोषणा पत्र का क्रियान्वयन करते हुए सभी 16366 शिक्षा कर्मियों को नव वर्ष 2020 का सौगात देने की मांग की है। 

एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया किसंविलियन से वंचित शिक्षा कर्मियों की कई है समस्या उन्हें अभी नियमित वेतन नही मिल रहा है, और यह वेतन भी न्यूनतम मिल रहा है। संविलियन से वंचित शिक्षको को शासन की ओर स्थानांतरण की सुविधा भी नही मिल रही है। इसके साथ ही DA पर अघोषित रोक लगी है। शिक्षक पंचायत और स्कूल शिक्षा विभाग में दोहरी शिक्षण व्यवस्था के पेंच में फसे हुए है।

सबसे महत्वपूर्ण संविलियन से वंचित शिक्षको के परिजनों के लिए अनुकम्पा नियुक्ति का नियम नही है। इन शिक्षको को मेडिकल, GIS का लाभ नही मिल रहा है। ऐसी अनेक सुविधा व लाभ से वंचित शिक्षा कर्मियों को जनवरी 2020 में नववर्ष की सौगात की दरकार – विधानसभा में घोषणा करें सरकार।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...