कलेक्टर कान्फ्रेंस में मुख्यमंत्री ने किस विषय को लेकर कहा कि अब दोबारा चर्चा नहीं करूंगा

रायपुर। छत्तीसगढ़ में सरकारी बिल्डिंग में भी गोबर से बने पेंट का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए सीएम भूपेश बघेल ने अधिकारियों के गोबर से बने पेंट के उत्पादन पर ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि गोबर पेंट के उत्पादन को बढ़ावा दें, जिससे डिमांड पूरी की जा सके।

कलेक्टर्स कांफ्रेंस में कृषि विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए सीएम ने कलेक्टरों को कहा कि बड़े आश्रित गांवों में भी गौठान का निर्माण होना चाहिए। बहुत से किसानों ने लोन लिया है, लेकिन वर्मी कंपोस्ट नहीं मिला। ऐसे किसानों के पास कंपोस्ट पहुंचना सुनिश्चित कीजिए। धान के अलावा दूसरी फसलों में भी वर्मी कंपोस्ट के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करना है। गर्मी में धान की फसल के लिए बांधों से पानी नहीं देना चाहिए, ताकि जुलाई के समय के लिए बांधों में पानी रहे। गर्मी में दलहन तिलहन को प्रोत्साहित कीजिए।

CM ने लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा की।मुख्यमंत्री ने खराब सड़कों को शीघ्र बनाने के सख्त निर्देश दिए।साथ ही 6181 किलोमीटर की सड़कों में तत्काल पैचवर्क करके ठीक करने कहा।श्री बघेल ने दिसंबर 2022 तक सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बात कही।उन्होंने कहा कि सड़क मरम्मत के लिए बजट की कोई कमी नहीं है।खराब सड़कों की मरम्मत हेतु कलेक्टर स्वयं मॉनिटरिंग करें।मुख्यमंत्री ने सख्त लहजे में दी हिदायत कि दौरे पर जाऊंगा तो खराब सड़कों की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए।सड़क हर हाल में बनना चाहिए।सड़क किसी भी विभाग की हो, मुझे कोई बहाना नहीं चाहिए , सड़क बनना चाहिए। सड़कों की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होना चाहिए।अब इस विषय में फिर चर्चा नहीं करूंगा।मुझे सड़कों की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। सड़क निर्माण की सभी संस्थाओं को आपस में कोआर्डिनेट करने के निर्देश दिए।कलेक्टर्स नोडल अधिकारी के रूप में काम करेंगे।किसी विभाग को सड़क निर्माण में दिक्कत है तो वो NOC दे, काम लोक निर्माण विभाग करेगा ।सड़कों का निर्माण प्राथमिकता है, कौन सा विभाग निर्माण करता है ये मायने नही रखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *