मेरा बिलासपुर

निर्देशों के तहत काम हो रहा है या नहीं, यह परखने कलेक्टर पहुंच गए स्कूल

जांजगीर-चाम्पा/ जिले में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने की दिशा में लगातार प्रयास कर रहे जिले के कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा की कोशिश है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के रूप में गरीब बच्चों को अच्छी शिक्षा देने का जो सपना देखा है, वह जांजगीर-चाम्पा जिले में भी उत्कृष्टता के साथ साकार हो। उनकी इन्हीं कोशिशों की कड़ी में चाम्पा नगर के स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय भी है।

यहां संचालित आत्मानंद विद्यालय में शैक्षणिक वातावरण विकसित करते हुए कक्षाओं की कमी को दूर करने के साथ खेलकूद के लिए मैदान, प्रयोगशाला, लाइब्रेरी और स्टाफ के बैठने की व्यवस्था पर वे न सिर्फ जोर देर रहे हैं, अपितु उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन हो रहा है या नहीं, यह परखने के लिए आज अचानक स्कूल पहुंच गए। कलेक्टर श्री सिन्हा का कहना है कि चाम्पा का यह विद्यालय प्रदेश का सबसे बढ़िया शैक्षणिक माहौल और सुविधाओं वाला स्कूल हो, जिसमें जिले के गरीब बच्चे पढ़े और आगे बढ़े।

स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय चाम्पा का कलेक्टर श्री सिन्हा ने आज तीसरी बार निरीक्षण किया। आसपास जर्जर भवन की वजह से खेल मैदान एवं अन्य समस्याओं के सामने आने पर उन्होंने इसे डिस्मेंटल कराने और मलबा हटाने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर ने जर्जर भवन के डिस्मेंटल के पश्चात आसपास फैले मलबों में जाकर प्रस्तावित कार्यों के संबंध में ठेकेदार को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्कूल में विद्यार्थियों को पूरी तरह से शैक्षणिक माहौल उपलब्ध होने चाहिए।

श्लोक ध्वनि फाउंडेशन द्वारा ग़ज़ल संध्या का आयोजन लखीराम अग्रवाल स्मृति सभागार में शनिवार को, राजेश सिंह देंगे प्रस्तुति

स्कूल के प्रवेश से लेकर भीतर कक्षाओं, लैब और लाइब्रेरी में जो सुविधाएं दी जानी चाहिए, वह अवश्य हो। कलेक्टर ने बाऊण्ड्रीवॉल बनाने के साथ एक अन्य पुराने भवन की मरम्मत कर शैक्षणिक व कार्यालयीन स्टाफ के बैठने की व्यवस्था के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को बेहतर वातावरण और खुली जगह मिले तो उनके शिक्षा के प्रति रूचि विकसित होती है। मौके पर उपस्थित सीएमओ ने मार्च माह के अंत तक सम्पूर्ण कार्य पूर्ण करने की बात कही है। कलेक्टर ने कक्षाओं का निरीक्षण भी किया। इस दौरान क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और एसडीएम डॉ.आराध्या राहुल कुमार, सीएमओ, तहसीलदार श्रीमती चंद्रशीला जायसवाल, उप प्राचार्य आदि उपस्थित थे।
प्राथमिक शाला को नवापारा में शिफ्ट करने के निर्देश
      निरीक्षण में पहुचे कलेक्टर सिन्हा ने यहां के जनप्रतिनिधियों की मांग पर परिसर में संचालित प्राथमिक शाला में विद्यार्थियों की कम संख्या को देखते हुए यहां के विद्यार्थियों और शिक्षकों को समीप के नवापारा के प्राथमिक शाला में शिफ्ट करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने अन्य आवश्यकताओं पर स्टीमेट बनाने के निर्देश भी दिए।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS