दंतेवाड़ा-चार इनामी नक्सली समेत आठ नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण,बीजापुर से भी दो इनामी नक्सली

दंतेवाड़ा।राज्य के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में लोन वर्राटू (घर वापसी) अभियान से प्रभावित होकर चार इनामी नक्सलियों समेत आठ नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया.दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने सोमवार को बताया कि लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर चार इनामी नक्सलियों… प्लाटून नंबर 13 का सदस्य सुरेश ओयामी, पेदरास एलओएस की सदस्य जोगी माड़वी, मिरतुर एलओरएस का सदस्य प्रदीप उर्फ पंडरू कोवासी और मिलिशिया प्लाटून का डिप्टी कमांडर सूले कवासी समेत आठ नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया.

पल्लव ने बताया कि जोगी पर दो लाख रुपए तथा माड़वी, कोवासी और कवासी पर एक-एक लाख रुपए का इनाम है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले अन्य चार नक्सलियों में से दो मिलिशिया सदस्य तथा दो चेतना नाट्रय मंच और भूमकाल मिलिशिया के सदस्य हैं.

पल्लव ने बताया कि नक्सलियों के खिलाफ पुलिस दल पर हमला, ग्रामीणों से मारपीट करना और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने समेत अन्य मामले दर्ज हैं. उन्होंने बताया कि नक्सलियों ने सुरक्षा बलों को जानकारी दी है कि उन्होंने माओवादी संगठन की खोखली विचारधारा और ंिहसा से तंग आकर तथा लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण किया है.पुलिस अधिकारी ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि के रूप में 10 हजार रुपए दिए गए हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले में नक्सलियों की घर वापसी के लिए लोन वर्राटू अभियान चलाया जा रहा है. इस अभियान के तहत जिले के थाना, शिविरों में नक्सलियों का नाम चस्पा कर उनसे समाज की मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की जा रही है. उन्होंने बताया कि लोन वर्राटू अभियान के तहत अब तक 67 इनामी नक्सली समेत 248 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है.

इधर बीजापुर जिले में सुरक्षा बलों ने दो इनामी महिला नक्सलियों को गिरफ्तार किया है. बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि जिले के गंगालूर और पामेड़ थाना क्षेत्र में दो महिला नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है.पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले में नक्सल विरोधी अभियान के तहत सोमवार को गंगालूर थाना क्षेत्र में सुरक्षा बलों को गश्त पर रवाना किया गया था. दल जब पदेड़ा-चेरपाल की ओर था, तब सुरक्षा बलों ने घेराबंदी कर पदेड़ा गांव से एक महिला नक्सली कोरसा मासे उर्फ शांति (24) को गिरफतार किया.

उन्होंने बताया कि नक्सली माड़ डिविजन में कंपनी नम्बर एक की सदस्या है. गिरफ्तार नक्सली पर आठ लाख रुपये का इनाम घोषित था. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार महिला नक्सली पिछले वर्ष दिसंबर महीने में गंगालूर क्षेत्र में सड़क, पुल-पुलिया निर्माण और नए शिविर खोलने के विरोध में रैली में शामिल हुई थी. इस दौरान उसने भीड़ को भड़काने की कोशिश की थी.

उन्होंने बताया कि एक अन्य घटना में पामेड़ थाना क्षेत्र में एक और महिला नक्सली को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पामेड़ थाना क्षेत्र में जिला बल और विशेष कार्यबल (एसटीएफ) के संयुक्त दल को सोमवार को गश्त पर रवाना किया गया था और इस दौरान दल ने चेरला मार्ग से दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन की अध्यक्ष सुनीता कारम (20) को गिरफ्तार किया.

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार महिला नक्सली पर एक लाख रुपये का इनाम था. उसके खिलाफ पामेड़ थाना क्षेत्र में बने नए शिविर पर पिछले वर्ष दिसंबर महीने में गोलीबारी करने का आरोप है. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार नक्सलियों को अदातल में भी पेश किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *