मेरा बिलासपुर

25 लाख का सौदा कर..चार लाख की धोखाधड़ी..पुलिस तक पहुंची शिकायत..फिर ऐसे पकड़ाए चारो धरतीपकड़ जालसाज

इकरारनामा किसी से..जमीन बिक्री किसी दूसरी पार्टी को..पांच आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर—पुलिस ने जमीन खरीदी बिक्री धोखाधड़ी मामलें में फरार पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। चारो आरोपियों ने पहले तो जमीन बिक्री को लेकर 25 लाख रूपयों में इकरार नामा किया।  चार लाख एडवास लिए जाने के बाद आरोपियों ने जमीन दूसरी पार्टी को बिक्री कर दिया। अपराध दर्ज होने के बाद फरार सभी पांचो आरोपियों को पकड़ लिया गया है। 
पकड़े गए चारो जालसाजों का नाम
1) द्रौपती बाई पिता स्व.कृष्ण कुमार बरगाह, निवासी रमतला, थाना कोनी, बिलासपुर
2) श्रवण कुमार बरगाह पिता स्व.कृष्ण कुमार बरगाह,निवासी रमतला, थाना कोनी,बिलासपुर
3)रमेश कुमार बरगाह उर्फ पवन बरगाह निवासी रमतला, थाना कोनी, जिला बिलासपुर
4)सोमनाथ ठाकुर उर्फ उद्धो निवासी ग्राम रमतला, थाना कोनी, जिला बिलासपुर
5)भोज सिंह बरगाह निवासी सा.ग्राम रमतला, थाना कोनी, जिला बिलासपुर(छ.ग.)
कोनी थाना पहुंचकर 4 जनवरी 2023 को बंधवापारा निवासी विश्वकांत निर्मलकर ने रिपोर्ट दर्ज कराया। पीड़ित ने बताया कि ग्राम रमतला स्थित भूमि के खसरा नंबर 1029/01 कुल रकबा 0.2390 हेक्टेयर जमीन का सौदा किया। राजस्व रिकार्ड में जमीन द्रौपती बाई ठाकुर, श्रवण कुमार ठाकुर, रमेश कुमार ठाकुर, सोमनाथ ठाकुर और भोज सिंह ठाकुर के साझे में है। 13/ जनवरी 2021 को भूमि बिक्री नामा कुल 25,50,000 रूपये में नोटरी के माध्यम इकरारनाम किया गया। इकरार नामा में गवाहों के हस्ताक्षर हैं। 
पीड़ित ने बताया कि बैंक के माध्यम से ममता बाई बरगाह पति भोजसिंह बरगाह के खाते में 4 मार्च 2021 को दो लाख ,4 मार्च और 17मार्च 2021 को 1,40,014 रूपये जमा किया। इसके अलावा नगद 70,300 रूपयो समेत  कुल 4,10,314 रूपये दिया। बावजूद इसके आरोपियों ने जमीन की बिक्री चांटीडीह निवासी सुधीर गिडवानी और आशीष गिडवानी के नाम कर दिया। और अब तक रूपया भी नहीं लौटाया है।
पुलिस ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पुलिस कप्तान पारूल माथुर के निर्देश पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 और 34 का अपराध दर्ज किया। इस बीच अपराध दर्ज होने के बाद सभी पांचो आरोपी फरारी काट रहे थे। पुलिस की लगातार पतासाजी के बाद फरार आरोपियों को कोटा थाना क्षेत्र स्थित घर से गिरफ्तार किया गया। सभी आरोपियों को न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है।

मोहन मरकाम ने कहा..सब तड़ीपार की साजिश..दिल्ली से ध्यान हटाने रचा गया षड़यंत्र..लेकिन हम डरने वाले नहीं
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS