IMD Alert :पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय,इन राज्यों में बारिश से गिरेगा तापमान, जाने पूर्वानुमान

दिल्ली।मौसम विभाग (weather department) के मुताबिक गुलमर्ग में इस सप्ताह की शुरुआत में बर्फ की चादर (nowfall)  से नजारा ढका रहेगा। पर्यटक मनोरम दृश्य का लाभ ले सकेंगे। वहीं IMD Alert ने बर्फ बारिश (rain) की संभावना जताई गई है। सोमवार से बर्फबारी की गतिविधि थमने के बाद आज से एक बार फिर जम्मू कश्मीर सहित क्षेत्र में बर्फबारी और बारिश की संभावना जताई गई है। पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) सक्रिय हो चूका है, जिससे दिल्ली सहित 7 राज्यों में बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जम्मू कश्मीर, मुजफ्फराबाद हिमाचल प्रदेश में व्यापक और मध्यम वर्षा सहित बर्फबारी की संभावना जताई है। इसके अलावा 9 और 10 नवंबर को जम्मू कश्मीर लद्दाख गिलगित बालटिस्तान हिमाचल और उत्तराखंड में बर्फबारी का सिलसिला जारी रहेगा।

मौसम विभाग में ताजा पश्चिमी विक्षोभ के कारण आज से पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में मौसम का प्रभाव बदलेगा। पश्चिमी विक्षोभ विशेष रूप से सर्दियों में निचले इलाके में मानसून के बाद सर्दियों की बारिश और उत्तर-पश्चिम भारत में पहाड़ी इलाकों में भारी हिमपात का कारण बनती है। इस दौरान उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी देखने को मिल सकती है। वहीं राजधानी दिल्ली सहित मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ उत्तर भारत और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्से में बूंदाबांदी से मौसम और अधिक ठंडा होगा।

राजधानी दिल्ली में तापमान में एक से दो फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी, आसमान में बादल छाए रहेंगे, कुछ इलाकों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है, उत्तर की तरफ से आ रही ठंडी हवाओं के कारण कोहरा छाने के भी आसार जताए गए हैं। साथ ही मौसम विभाग ने आगे आने वाले सप्ताह में ठंड में और अधिक इजाफे के संकेत दिए हैं।

पश्चिमी विक्षोभ का असर उत्तर प्रदेश में पड़ेगा। उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है, इसके लिए मौसम विभाग में अलर्ट जारी किया लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है, रात को ठंडी हवाओं के प्रभाव में और अत्यधिक गिरावट होगी। तापमान में गिरावट का दौर जारी रहेगा, धुंध और कोहरे की दस्तक से मौसम पटा रहेगा।

बिहार में सर्द हवाओं का सितम

बिहार में सर्द हवाओं का सितम जारी है, पटना मुजफ्फरपुर शहर के कई प्रमुख शहरों में तापमान में भारी गिरावट जारी है। सुबह और शाम ठंड से लोग परेशान हो रहे हैं। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मौसम शुष्क बना हुआ। तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट अभी और आएगी। वैशाली बेगूसराय सहित कई जिलों में अधिकतम तापमान काफी नीचे जा रहा है। ठंडी हवाओं का प्रचलन बढ़ गया है। पटना में अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। वहीं न्यूनतम तापमान में भी गिरावट का दौर जारी है। कुछ दिन में सर्दी के और अधिक बढ़ने की संभावना मौसम विभाग द्वारा जताई गई है।

बंगाल की खाड़ी में जल्दी एक नया सिस्टम

बंगाल की खाड़ी में जल्दी एक नया सिस्टम एक्टिव होगा, इससे बंगाल झारखंड सहित उड़ीसा के कई क्षेत्र प्रभावित होंगे, मौसम विभाग ने इसकी चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बताया है कि झारखंड में फिलहाल मौसम शुष्क बना रहेगा। बंगाल में बंगाल की खाड़ी की तरफ से उठ रही हवा की वजह से मौसम हल्का ठंडा हो सकता है। फिलहाल गर्मी का दौर जारी रहेगा। वही उड़ीसा में भी मौसम बदलने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। तापमान में गिरावट जारी रहेगी। हालांकि कोहरे और धुंध की दस्तक से इनकार किया गया है।

इन क्षेत्रों में बारिश

  • 9 नवंबर से शुरू होने वाले पश्चिमी विक्षोभ के कारण पश्चिम उत्तर प्रदेश, पश्चिमी राजस्थान उत्तर पंजाब उत्तरी हरियाणा और चंडीगढ़ में बुधवार और गुरुवार यानी 9 और 10 नवंबर को छिटपुट बूंदाबांदी देखने को मिलेगी, इसके अलावा राजधानी में बादलों का आवागमन जारी रहेगा।
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में व्यापक बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं।
  • तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और लक्षद्वीप में छिटपुट गरज के साथ छिटपुट बौछारें पड़ सकती हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिमी राजस्थान में छिटपुट बारिश या बूंदाबांदी की संभावना है।
  • अन्य क्षेत्रों में शुष्क मौसम रहने की संभावना है, 11 नवंबर से 13 नवंबर तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग जगहों पर बहुत भारी बारिश संभव है।
  • हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में व्यापक रूप से बर्फबारी या बारिश का अनुमान है।
  • हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पंजाब में छिटपुट बारिश हो रही है।11 नवंबर और 12 नवंबर को रायलसीमा और दक्षिण आंध्र प्रदेश में और रविवार, 13 नवंबर को केरल में इसी तरह का मौसम रहने की संभावना है।
  • उत्तर भारत में सुबह-सुबह घना कोहरा छा सकता है। आंध्र प्रदेश और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बिजली गिरने की संभावना के साथ अलग-अलग वर्षा संभव है।

मौसम प्रणाली

  • बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी और उससे सटे भूमध्यरेखीय हिंद महासागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण अब औसत समुद्र तल से 4.5 किमी ऊपर देखा जा रहा है।
  • अगले 24 घंटों के दौरान इसी क्षेत्र में कम दबाव के क्षेत्र में विकसित होने की उम्मीद है।
  • तमिलनाडु-पुडुचेरी तटों की ओर इस प्रणाली की उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने के आसार 9 नवंबर से 11 नवंबर तक है।
  • वहीँ एक पश्चिमी विक्षोभ गुरुवार, 9 नवंबर से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है।
  • इन प्रणालियों के सामूहिक प्रभाव के तहत, 10 नवंबर से 13 नवंबर तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में गरज-चमक के साथ अलग-अलग भारी बारिश के साथ व्यापक रूप से व्यापक हल्की / मध्यम बारिश होने का अनुमान है।
  • रायलसीमा और दक्षिण में भी इसी तरह की स्थिति की उम्मीद है। आंध्र प्रदेश 10 नवंबर और 11 नवंबर।

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में बदलेगा मौसम

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ हरियाणा पंजाब में तेजी से मौसम में बदलाव का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण तापमान में गिरावट जारी रहेगी। धुंध और कोहरे से मौसम पड़ा रहेगा। इसके साथ ही बादल छाए रहेंगे। धूप के दर्शन से इनकार किया गया है। इसके साथ ही तापमान में गिरावट रहेगी। कई क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल सकती है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है।

दक्षिणी राज्यों में बारिश

दक्षिणी राज्यों की बात करें तो केरल कर्नाटक तमिलनाडु सहित महाराष्ट्र के कुछ हिस्से में बूंदाबादी का कहर जारी रहेगा। दरअसल इन क्षेत्रों में फिलहाल बारिश के रोकने से इनकार किया गया। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले सप्ताह के गुरुवार तक बारिश की गतिविधियों पर विराम लगेगी। हालांकि बारिश की गतिविधियों पर विराम लगते ही एक बार फिर से बादलों का आवागमन शुरू होगा। साथ ही एक नए पश्चिमी विक्षोभ का असर भी इन राज्यों पर देखने को मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *