TOP NEWS

Pension: लाखों पेंशनरों के लिए महत्वपूर्ण खबर,एक हफ्ते में Update करें ये डिटेल्स, वरना अटक जाएगी Pension

पेंशनधारक द्वारा वार्षिक भौतिक सत्यापन के लिए ई-मित्र कियोस्क, राजीव गांधी सेवा केन्द्र, ई-मित्र प्लस आदि केन्द्रों पर अंगुली की छाप बायोमैट्रिक्स से कर सकते है।

Pension: नए साल से पहले राजस्थान के लाखों Pensioners के लिए महत्वपूर्ण खबर है। राज्य सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत पेंशनरों (वृद्धावस्था,‎ विधवा, विशेष योग्यजन) के लिए बायोमैट्रिक सत्यापन अनिवार्य कर दिया है, जिन्होंने अबतक सत्यापन नहीं करवाया है वे 31 दिसंबर 2022 से पहले पूरी कर लें, अन्य पेंशन का लाभ नहीं मिलेगा। बता दे कि विभाग ने पूर्व में ओटीपी द्वारा सत्यापन की व्यवस्था को समाप्त कर बायोमैट्रिक सत्यापन को अनिवार्य कर दिया है।

Pension Update 2022: अगर बायोमेट्रिक सत्यापन करवाने में दिक्कत हो रही है पेंशनर्स जरूरी दस्तावेज के आधार पर भी सत्यापन करवा सकते है। राज्य सरकार ने फैसला किया है कि सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के प्रामाणिक दस्तावेज के आधार पर भी पेंशनर के जीवित होने का सत्यापन किया जा सकेगा। इससे लाखों पेंशनरों को बड़ी राहत मिलेगी।वही अगर आधार से मोबाइल लिंक नहीं है, तब भी पेंशन की राशि मिलेगी।

दरअसल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग (वृद्धावस्था,‎ विधवा, विशेष योग्यजन) के तहत नियमित पेंशन प्राप्त करने के लिए 31 दिसंबर 2022 तक बायोमैट्रिक सत्यापन कराना अनिवार्य होगा। पेंशनर्स पेंशन सत्यापन करवाने के लिए आधार कार्ड, जन आधार कार्ड आदि दस्तावेजों को नजदीकी ई-मित्र सेंटर पर ले जाकर पेंशन सत्यापन करवा सकते है। यदि किसी भी पेंशनधारी ने ई मित्र से सत्यापन नहीं करवाया तो इस माह से सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ लाभार्थियों को नहीं मिलेगा।

इन तरीकों से करवा सकते है सत्यापन

  1. पेंशनधारक द्वारा वार्षिक भौतिक सत्यापन के लिए ई-मित्र कियोस्क, राजीव गांधी सेवा केन्द्र, ई-मित्र प्लस आदि केन्द्रों पर अंगुली की छाप बायोमैट्रिक्स से कर सकते है।
  2. अंगुली की छाप बायोमैट्रिक्स से वंचित रहे पेंशनर्स का भौतिक सत्यापन आई रिस स्कैन से भी किया जा सकता है।
  3. यदि पेंशनर पेंशन स्वीकृतकर्ता अधिकारी (विकास अधिकारी, उपखण्ड अधिकारी) के सामने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होता है,तो अधिकारी स्वयं की SSO आईडी द्वारा SSP पोर्टल पर संबंधित पेंशनर का PPO नम्बर दर्ज करने पर पेंशनर के रजिस्टर्ड मोबाइल पर प्राप्त OTP के आधार पर भौतिक सत्यापन किया जा सकता है।
शुगर में तिल के लड्डू खा सकते हैं क्या? एक्सपर्ट से जानें और ट्राई करें बिना गुड़ या चीनी वाली ये Recipe

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS