मेरा बिलासपुर

रेलगाड़ी ने बिगाड़ा सारा खेल…राहुल देव ने बताया…पत्नी ने पिता के साथ मिलकर तैयार किया मर्डर प्लान…5 आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर— मीडिया के सामने एडिश्नल एसपी राहुल शर्मा ने कलमीटार स्टेशन स्थित रेलवे ट्रैक पर मिली लाश और अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है। शव की शिनाखतगी के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जांच पड़ताल के दौरान जानकारी मिली कि श्वसुर ने अपने दामाद की हत्या किया है। हत्या के बाद आरोपी ने शव को हादसे का रंग दने शव को रेल्वे ट्रेक पर फेंका। घटनाक्रम में मृतक की पत्नी दुर्गा ने ही पति को रास्ते से हटाने के लिये अपने पिता के साथ षड़यंत्र रचा। मृतक का नाम योगेश्वर सिंगरौल है। मृतक पथरिया डबरीपारा का रहने वाला है। अंधे कत्ल के जुर्म में कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपियों को आईपीसी की धारा 302, 201, 34 के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल दाखिल कराया गया है। 
 संयुक्त टीम का गठन
 अतिरिक्त पुलिस कप्तान राहुल देव शर्मा ने मीडिया के सामने खुलासा किया कि कमलीटार स्टेशन के पास रेलवे ट्रेक में  पड़ी लाश और कत्ल की गुत्थी को सुलझाने का दावा किया। सूचना के बाद कोटा पुलिस  मौके पर पहुॅच कर शव का पंचनामा के बाद मामले को विवेचना में लिया। जांच पडताल के बाद शव के सिर में गंभीर चोट के निशान पाए गए। मामले की जानकारी पुलिस कप्तान को दी गयी।
एसीसीयू और स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम को अलग अलग ठिकानों पर अज्ञात शव और आरोपीयों की पतासाजी के लिए दौड़ाया गया। अलग अलग थानों में मृतक के फोटो को भी भेजा गया। पड़ताल के दौरान मृतक के शर्ट की जेब से मंगला चौक स्थित रेस्टोरट मालिक  का मोबाईल नम्बर हासिल हुआ। इसके बाद रेस्टोरेन्ट  मालिक से संपर्क किया गया। मालिक ने बताया कि व्यक्ति काम मांगने आया था। हॉटल के सीसीटीवी को भी खंगाला गया। 
मृतक की सीसीटीवी से पहचान
पुलिस टीम मंगला चौक उस्लापुर, नेहरू चैंक, महाराणा प्रताप चौक, मंगला बस्ती और आसपास के चौक चैराहो में लगे सी.सी.टी.वी. कैमरो को भी खंगाला। इस दौरान मृतक का मंगला चौक स्थित वंदना हास्पिटल के पास स्थित होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दिया। इस दौरान मृतक करीब दो घंटे तक आस-पास बार-बार आते जाते दिखाई दिया।
फुटेज देखने के बाद हॉटल कर्मचारी ने बताया कि मृतक होटल की महिला कर्मचारी दुर्गा सिगरौल से कई बार मिलने आया था। फोटो दिखाकर पूछताछ करने पर दुर्गा सिंगरौल ने मृतक को अपना पति होना बताया। महिला ने बताया कि पति का नाम योगेशवर सिंगरौल है।
चरित शंका पर दिया मौत को अंजाम
बारीकी से पूछताछ करने पर दुर्गा सिंगरौल ने बताया कि करीब तीन साल पहले दोनो अलग अलग हो गए। योगेशवर सिगरौल चरित्रपर शंका करता था। बार-बार होटल आकर मारपीट भी करता था। पिता रामावतार सिंगरौल को फोन कर महावीर होटल के पास बुलाया। हमेशा के लिये योगेशवर सिगरौल को  रास्ते से हटाने के लिये पिता ने अपने साथियों विनोद सिंगरौल और लखन साहू  को बुलाया।
मृतक योगेशवर सिंगरौल को मौके पर मारा-पीटा। हाथ बांधकर मोटर सायकल से ग्राम मोछ लेकर गए। मोछ में भी रामाअवतार और उसके साथियों ने मारा पीटा। इसके बाद तिफरा निवासी लााल उर्फ विशम्भर लोनिया को बुलाकर दो मोटर सायकल से चारो आरोपी योगेशवर सिगरौल को लेकर कलमीटार रेलवे स्टेशन की तरफ से लेकर गए। 
घसीटकर रेलवे ट्रैक पर फेंका
पूछताछ के दौरान दुर्गा सिंगरौल के पिता और मुख्य आरोपी रामअवतार ने बताया कि रेलवे ट्रेक के पास पत्थर से मृतक के सिर के पीछे की तरफ मारा। योगेशवर सिंगरौल की मौके पर ही मौत हो गयी। चारो ने मृतक को घसीटकर रेलवे ट्रेक पर रख दिया। इसके बाद सभी लोग भाग गये।
लाश देखकर ड्रायवर ने रोका ट्रेन
राहुल देव शर्मा ने बताया कि तभी ट्रेन के ड्राईवर ने शव को देखते ही ट्रेन रोक दिया। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को मिली। रामअवतार ने बताया कि मृतक योगेशवर सिंगरौल अपनी पत्नि के चरित्र पर शक करता था। इस बात को लेकर रोज मारपीट के साथ ही प्रताड़ित भी करता था। मृतक की पत्नि दुर्गा सिंगरौल भी पति को हमेशा के लिये रास्ते से हटाने चाहती थी। इसलिए साथियों के साथ मिलकर हत्या को अंजाम दिया। 
आरोपियों को भेजा गया जेल
राहुल देव शर्मा ने बताया कि घटना में शामिल सभी आरोपीयों को अलग-अलग जगह ठिकानों पर घेराबंदी कर हिरासत में लिया गया।  सभी आरोपीयों को हत्या करने के जुर्म में विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है। 
गिरफ्तार आरोपियों का नाम,पता,ठिकाना
1) रामअवतार सिंगरौल निवासी  मोछ थाना तखतपुर बिलासपुर।
2) विनोद सिंगरौल निवासी खैरी थाना तखतपुर बिलासपुर ।
3) लखन लाल साहू निवासी ग्राम मोछ थाना तखतपुर बिलासपुर।
4) राम विशवम्भर लोनिया निवासी तिफरा यदुनंनदन नगर सिरगिट्टी। 
5)  दुर्गा सिंगरौल निवासी ग्राम मोछ तखतपुर,हाल मुकाम महावीर पैराडाईस होटल मंगला चौक।
विशेष और अहम् प्रयास
एसीसीयू प्रभारी धर्मेंद्र वैष्णव, थाना प्रभारी कोटा निरीक्षक उत्तम साहू,, उप निरी. अजय वारे, हेतराम सिदार, सउनि चंदन सिहं कोर्राम, प्र. आर. बलवीर सिंह आरक्षक तरूण केशरवानी, निखील राॅव, प्रशांत सिंह, बोधुराम कुम्हार, महिला आरक्षक शकुन्तला साहु, आरक्षक चंदन मानिकपुरी, संजय कश्यप, असिम भारद्वाज, रवि राजपूत, भोप सिंह का सराहनीय योगदान रहा।
                   

Join Our WhatsApp Group Join Now
Back to top button
close