VIDEO: PM Modi के मंच से डिप्टी CM TS बाबा को याद करने का मतलब…

Shri Mi
7 Min Read

बिलासपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिलासपुर में परिवर्तन रैली के समापन में आयोजित आमसभा के दौरान छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री टी.एस सिंहदेव का भी जिक्र किया।पीएम मोदी ने इसी महीने छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में आयोजित एक सार्वजनिक सभा का जिक्र करते हुए बताया कि इस सभा में डिप्टी सीएम ने कहा था कि केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ के साथ अन्याय नहीं किया।

पीएम मोदी ने कहा कि यह सच बात सामने आने के बाद कांग्रेस के भीतर तूफ़ान खड़ा हो गया। पीएम मोदी के भाषण के इस हिस्से को लेकर अलग-अलग मायने निकाले जा रहे हैं और इसे इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद की संभावनाओं से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

यह इत्तेफाक है कि शनिवार को ही एक नेशनल चैनल के डिबेट के दौरान एक पैनलिस्ट ने छत्तीसगढ़ की चुनावी संभावनाओं पर बोलते हुए इशारा किया था कि छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम टी.एस. सिंहदेव का रुख क्या होता है यह देखना दिलचस्प होगा…। इस पैनललिस्ट ने भी पिछले 14 सितंबर को छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में हुई पीएम नरेंद्र मोदी की आमसभा का जिक्र किया था ।

जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम टी.एस. सिंहदेव ने कहा था कि केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ सरकार के साथ पूरा सहयोग किया है।

ठीक इसी दिन बिलासपुर में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने फिर टी.एस. सिंहदेव का जिक्र किया। उन्होंने अपने भाषण के शुरुआती दौर में ही यह बात कही थी कि केंद्र की भाजपा सरकार छत्तीसगढ़ के विकास के लिए पूरी तरह से सहयोग कर रही है और पैसे भेज रही है ।

लेकिन छत्तीसगढ़ में घोटाले की वजह से काम नहीं हो पा रहा है। इसी दौरान उन्होंने बताया कि रायगढ़ की सार्वजनिक सभा में छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम ने सच बोला था।

उन्होंने भरी सभा में कहा था की दिल्ली ने छत्तीसगढ़ के साथ कभी अन्याय नहीं किया।सार्वजनक जीवनव में सच को कभी छिपाया नहीं जा सकता। यदि भरी सभा में कांग्रेस सरकार के डिटी सीएम यह सच माने लाते हैं तो इस बात को लेकर खुशी होनी चाहिए। लेकिन कांग्रेस में इससे तूफान खड़ा हो गया और उनको फांसी पर लटकाने के खेल खेलने लग गए।

पीएम मोदी ने भले ही छत्तीसगढ़ के विकास में केंद्र की दिलचस्पी, हिस्सेदारी और अहम भूमिका को प्रमाणित करते हुए छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम के नाम का ज़िक्र किया हो।

लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी की सभा के बाद इस बात को लेकर राजनीतिक हलकों में हलचल हुई है। लोग पीएम मोदी के भाषण के इस हिस्से का अपने-अपने ढंग से मतलब निकल रहे हैं। खास तौर से इसे छत्तीसगढ़ में इस साल होने वाले विधानसभा के चुनाव के बाद की संभावनाओं से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

पीएम मोदी के भाषण के इस हिस्से को इस नजरिए से देखने वालों का मानना है कि हाल के सर्वेक्षणों में यह बात सामने आई है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और भाजपा के बीच मुक़ाबला करीब़ी होता जा रहा है। सर्वेक्षण रिपोर्ट से जुड़ी खबरों में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 46% वोट के साथ 51 सीटें मिल सकती हैं।

जबकि भाजपा 41 प्रतिशत वोट के साथ 38 सीट जीत सकती है। एक सीट अन्य के खाते में जा सकती है। इस सर्वे रिपोर्ट के हिसाब से बीजेपी ने पिछले 6 महीनों में अपनी स्थिति में काफी सुधार किया है। कांग्रेस औऱ भाजपा के बीच 2018 के विधानसभा चुनाव में जहां करीब 10 फ़ीसदी वोट का फर्क था।

वहीं अब करीब 5 फ़ीसदी वोट का अंतर रह गया है। सीटों के हिसाब से देखें तो कांग्रेस, – बीजेपी के बीच करीब तीन सीटों का ही अंतर नजर आ रहा है।

मुकाबला करीबी होने की वजह से लोग चुनाव के बाद की परिस्थितियों का गणित भी लगा रहे हैं। ऐसे में डिप्टी सीएम TS सिंहदेव की तारीफ को आने वाले समय की संभावनाओं से जोड़कर देखने वाले भी लोग हैं।हालांकि इस बारे में अभी कुछ भी कहना बहुत जल्दबाजी है ।

चुनाव के लिए अभी वक्त है और ठीक चुनाव के समय किस तरह के हालात बनेंगे….. इस बारे में आने वाला समय ही बता सकेगा। लेकिन फ़िलहाल पीएम मोदी के मंच से निकली यह बात हवा – हवाई होते हुए अलग-अलग आकार लेकर लोगों के बीच पहुंच रही है ।जिससे पीएम मोदी की बिलासपुर रैली के बाद बहस का एक दिलचस्प मुद्दा लोगों को दे दिया है…।

रायगढ़ की सभा में बाबा ने क्या कहा था
14 सितंबर को रायगढ़ के कोटातराई में आयोजित सभा में पीएम नरेन्द्र मोदी की मौज़ूदगी में उपमुख्यमंत्री टी.एस. सिंहदेव ने कहा था कि… मेरा सौभाग्य है कि छत्तीसगढ़ की धरती पर श्रद्धेय प्रधानमंत्री जी की आगवानी करने का अवसर मिला। छत्तसीगढ़ में सर आपका बहुत-बहुत स्वागत है…। आज आप देने आए हैं….। बहुत सारी चीज़ें देते रहें है। और भविष्य में भी मिलती रहेंगी। ऐसा मेरा विश्वास है…। इसके बाद उन्होने कहा था कि संविधान के संघीय व्यवस्था में सदैव राज्य और केन्द्र सरकार अपना काम करती रही है। मेरे अनुभव में मैने भेदभाव महसूस नहीं किया।( इसे सुनकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने दोने हाथ जोड़कर धन्यवाद के रूप में अभिवादन किया था ) ।

टी.एस. सिंहदेव ने आगे कहा कि राज्य में अगर हम लोगों ने काम किया है और बतौर हक मांगा । तो केन्द्र की ओर से कभी हाथ तंग नहीं रहे…।…. और मेरा विश्वास है कि आने वाले समय में इस देश और प्रदेश को संघीय व्यवस्था में मिलकर आगे बढ़ाएंगे…। स्वास्थ,शिक्षा,औद्योगीकरण,रोजगार के क्षेत्र में साझा भागेदारी के साथ मिलकर काम करते रहेंगे…।

close