मेरा बिलासपुर

आगजनी की अबूझ पहेली..लोग परेशान

R_CT_RPR_999_03_AAGJANI_VIS_VISHAL_DNG R_CT_RPR_999_03_AAGJANI_VIS_VISHAL_DNGबिलासपुर—मस्तूरी क्षेत्र में लगातार आगजनी की शिकायत से आम जनजीवन काफी डरा हुआ है। गांव में लगातार आगजनी की घटना से लोगों में दहशत देखने को मिल रहा है। आगजनी का कारण क्या है अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। अधिकारियों की तमाम चौकसी के बाद भी आगजनी का सिलसिला थम नहीं रहा है। पिछले बीस पच्चीस दिनों में आगजनी का आधा दर्जन से अधिक मामला दर्ज किया गया है।

                            मस्तूरी क्षेत्र में आगजनी की घटना रूकने का नाम नहीं ले रही है। कारण भी स्पष्ट नहीं हो सका है। अधिकारियों की मुस्तैदी के बाद भी आगजनी पर ब्रेक नहीं है। आम जनजीवन काफी दहशत में है। मस्तूरी ब्लाक के ग्राम सेमराडीह में 20-25 दिनों से घर-घर में आग लगने का मामला अभी तक नहीं सुलझा है। दहशत में डूबे ग्रामीण अब आगजनी की घटना को दैवीय प्रकोप के रूप में देखना शुरू कर दिया है।

                             11 अप्रैल से लगातार गांव में एक ना एक आगजनी की घटना घट रही है। कभी घर में तो कभी पैरावट में आग लगने की जानकारी मिल रही है। ग्रामीणो को कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है कि आगजनी का कारण क्या है। प्रशासन भी आगजनी की घटना को लेकर काफी परेशान है। बावजूद इसके रहस्य का उजागर नहीं हो पा रहा है।

सेमराडीह की ही बुजुर्ग महिला खेलन बाई कैवर्त ने बतयाा कि आगजनी से उसका घर जल गया। दाने दाने को मोहताज है। उसके पास कुछ भी नहीं बचा है। अब उसके सामने भीख मांगने के अलावा कोई चारा नहीं है। वहीं गांव में लगातार आगजनी की घटना के बाद जिम्मेदार अधिकारी मुस्तैद हैं लेकिन कारणों का अभी तक पता नहीं लगा सके हैं।

किसानों के मुद्दे पर बढ़ गए ट्वीट..पढ़िए - नरेंद्र सिंह तोमर ने कही ये बात

अधिकारियों की माने तो पीड़ित बुजुर्ग महिला के जीवनयापन के लिए प्रशासन समुचित व्यवस्था कर रहा है। गांववालों ने बताया कि आगजनी की शिकार महिला को अभी तक प्रशासन की तरफ से ना तो अनाज मिला है और ना ही मुआवजा। महिला दर दर भटकने को मजबूर है…

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS