दरबा में खुलेगा सहकारी बैंक की शाखा,पंजीयक सहकारी संस्थाएं ने दी अनुमति

रायपुर।पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर की विशेष प्रयासों से धमतरी जिले के कुरूद विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम दरबा में सहकारी बैंक की नवीन शाखा खोलने की अनुमति प्रदान कर दी गई है। इस आशय का आदेश पंजीयक सहकारी संस्थाएं द्वारा 31 मार्च  को जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को भेज दिया गया है।

नवीन शाखा के लिए प्रस्तुत आवेदन में दरबा शाखा के कार्यक्षेत्र की मड़ेली, जामगांव, करगा और दरबा समितियां को शामिल करने का आग्रह किया गया था। इस सहकारी बैंक की नवीन शाखा खुलने से अब क्षेत्र के लगभग 1.15 लाख किसानों और ग्रामीणों को बैंकिंग सुविधा का लाभ मिलेगा।

जिला सहकारी बैंक के अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्रवासियों और किसानों की मांग पर मई 2016 में दरबा में सहकारी बैंक की शाखा खोलने के लिए राष्टीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर को प्रस्ताव प्रस्तुत किया था। कृषि शाख सहकारी समितियों और क्षेत्र के किसानों की मांग को ध्यान में रखते हुए मंत्री श्री चन्द्राकर ने इसमें विशेष रूचि ली।

चन्द्राकर के गंभीर प्रयासों से दरबा में सहकारी बैंक की नवीन शाखा खोलना संभव हो पाया है। ज्ञातव्य है कि पंजीयक सहकारी संस्थाएं ने 31 मार्च को प्रदेश में केवल दो बैंक खोलने की अनुमति प्रदान की है। जिसमें एक धमतरी जिले ग्राम दरबा और दूसरा दुर्ग जिले के ग्राम खण्डसरा शामिल हैं।

दरबा में सहकारी बैंक की स्वीकृति मिल जाने से अब किसानों को बैंक संबंधी काम-काज के लिए 20 किलोमीटर दूर मरौद जाना नहीं पड़ेगा। उन्हें लगभग 10 किलोमीटर पर ही ग्राम दरबा शाखा के अंतर्गत प्राथमिक कृषि शाख सहकारी समितियों को बैंकिंग सुविधा का लाभ मिलेगा। किसानों को इस बैंक के जरिए उनके डीएमआर खातों का संचालन, शासन की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत अनुदान की राशि, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, बोनस भुगतान, व्याज अनुदान सहायता, बीमा दावा, फसल क्षती पूर्ति आदि का भुगतान इस बैंक शाखा के माध्यम से किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *