पंचायत चुनाव की मतगणना नगरीय निकाय की तर्ज पर जनपद – जिला स्तर पर हो, शिक्षक संगठन में उठाई मांग

गढ़चिरौली,नक्सल,चुनाव,मतदान,वोटिंग,महाराष्ट्र,लोकसभा चुनाव,नामांकन,सरगुजा,dueg,chhattisgarh,मतदान ,लोकसभा,नामांकन पत्र,बस्तर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र,,रायपुर,व्यय लेखे,भारत निर्वाचन आयोग,छत्तीसगढ़ निर्वाचन-2018,,Polling Officer Dead, Evm, Madhya Pradesh Election 2018 Exit Poll, Madhya Pradesh Election 2018, Madhya Pradesh Election, Congress, Bjp, Polling Booth List Of Mp, Cm Candidates Of Congress In Mp 2018, Madhya Pradesh Me Kitne Jile Hain,बिलासपुर।शिक्षको की माँग है कि पंचायत चुनाव की मतगणना जनपद जिला स्तर पर होनी चाहिए। इसमे भी सुधार होने चाहिए । देश मे जब भी कोई चुनाव होता है।इस प्रक्रिया में  सुरक्षा व्यवस्था के बाद बड़ी मात्रा में मानव बल  में शिक्षको की सँख्या ज्यादा होते जा रही है। चुनाव व्यवस्था शिक्षक को स्कूल के शिक्षण कार्य से हटा कर चुनाव में झोख देती है। शिक्षक  अध्यापन कार्य से हट कर मानसिक व शारीरिक रूप से इस कार्य करने को सक्षम है कि नही इस बात पर कभी ध्यान नही दिया जाता है। चुनाव ड्यूटी में लगा एक शिक्षक पोलिंग बूथ से लेकर मतगणना तक सभी राजनीतिक दलों के छोटे से लेकर बड़े नेताओं के राडार पर रहता है। चुनाव के विवादों कई बार चुनाव कर्मीयो पर भारी पड़ते है।प्रदेश में आगामी कुछ महीनों में नगरीय निकायों  सहित पंचायत चुनाव होने है। जिसमे पंचायत चुनाव में होने वाले विवादो से निपटने के लिए ठोस योजना अब सामने नही आई है ।पंचायत चुनाव में संशोधन की मांग को लेकर  वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ ने मुख्यमंत्री से माँग की है, कि नगर पालिका परिषद की मतगणना के तर्ज पर पंचायत चुनाव कराया जावे जिसमे जनपद जिला स्तर पर मतगणना  के नये नियम आगामी समय मे बनाया जाए ।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अजय उपाध्याय ने बताया कि हमने संघ के माध्यम से  मुख्यमंत्री से आगामी छत्तीसगढ़ के त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन मे कुछ संशोधन की मांग की है। मांग मतदान दल की सुरक्षा व मतगणना संबंधी है।उन्होंने बताया कि पंचायत चुनाव में मतगणना चुनाव स्थल पर पशोपेश की स्थिति होती है, तथा वह समय तनाव से भरा हुआ होता है। ऐसे मे मतदान दल मतगणना दल के रूप मे मात्र एक सिपाही या कोटवार के भरोसे कार्यवाही संपन्न कराता है ।जहां शांतिपूर्वक मतगणना संभव नहीं हो पाता ।

यह भी पढे-BJP के स्टार प्रचारकों की सूची से पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का नाम नही,सरोज पांडेय को मिली जगह,देखे सूची

अजय ने बताया कि शिक्षक समुदाय की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए  शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराने मतगणना के लिए नियम मे संशोधन करते हुए नगर पालिका परिषद की मतगणना के तर्ज पर पंचायत चुनाव कराया जावे जिसमे जनपद जिला स्तर पर मतगणना   के नये नियम आगामी समय मे बनाया जाए । इसी सिलसिले में वरिष्ठ शिक्षा कर्मी संघ ने मुख्यमंत्री के नाम खुला पत्र भी जारी किया जो सोशल मीडीया में काफी लोकप्रिय हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *