पूरी हुई शहीद परिवार की तमन्ना…अब बदल जाएगा स्कूल का नाम..DEO ने कहा 2 दिन में पूरी कर देंगे प्रक्रिया

बिलासपुर—सरकण्डा स्थित उच्चत्तर माध्यमिक कन्या शाला का नाम अब शहीद अविनाश शर्मा उच्चत्तर माध्यमिक कन्या शाला के नाम से जाना जाएगा। शहीद के माता पिता की मांग के बाद तात्कालीन समय मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि शहीद के नाम पर स्कूल का नामकरण होगा। लेकिन फैसला होने में दो साल लगे।

                 मालूम हो कि बस्तर अंंचल में सरकंडा स्थित चौबे कालोनी कपिलनगर में निवासी अविनाश शर्मा करीब दो साल पहले नक्सली मुढभेड़ में  शहीद हो गये थे। बताया जा रहा था कि अविनाश शर्मा ने तीन साल पूरा होने के बाद स्थानांतरण की मांग की थी। लेकिन शासन स्तर पर निर्णय लेने मेंं बहुत देरी हुई। नक्सली मुढभेड़ में अविनाश शर्मा शहीद हो गए।

                     अविनाश शर्मा के अंतिम संस्कार के बाद मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिह और निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने शहीद परिवार से मुलाकात कर सांत्वना दी थी। इस दौरान शहीद की मां ने मुख्यमंत्री से कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय का नाम अविनाश शर्मा उच्चत्तर कन्या शाला करने को कहा था। मुख्यमंत्री ने तत्काल मांंग को स्वीकार किया था।

                दो साल बाल स्कूल शिक्षा मंत्रालय ने 16 फरवरी को एक आदेश जारी कर शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक कन्या शाला सरकण्डा बदलकर शहीद अविनाश शर्मा उच्चत्तर माध्यमिक कन्या शाला सरकण्डा कर दिया है। आशय का पत्र जिला शिक्षा विभाग बिलासपुर को भी भेजा गया है।

दो दिन के अन्दर पूरी करेंगे प्रक्रिया

   जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त उपाध्याय ने बताया कि आदेश का पालन तत्काल किया जाएगा। शासन का पत्र मिल चुका है। रविवार होने के कारण कार्यालय बंद है। सोमवार और मंगलवार तक स्कूल नामकरण और जरूरी प्रक्रियाओं को पूरा कर लिया जाएगा। हेमन्त उपाध्याय ने बताया कि स्कूल का सील सिक्का,बोर्ड समेत सरकारी दस्तावेजों को दो दिन के भीतर सुधारकर शहीद अविनाश शर्मा कन्या उच्चतर माध्यमिक शाला कर दिया जाएगा। खुशी की बात है शासन ने शहीद परिवार को सम्मा्नित किया। सोमवार को प्रधानपाठक को बुलाकर बैठक करेंगे। जरूरी प्रक्रिया को दो दिन में पूरा कर लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *