बाल संप्रेक्षण गृह में अपराध…नाबालिग ने लगायी फांसी….पुलिस ने कहा…होगी जांच..पिता ने बताया सुधार की जरूरत

 बिलासपुर— सरकंडा स्थिल बाल संप्रेक्षण गृह में एक नाबालिग ने फांसी लगाकार आत्महत्या कर लिया है। मामला बीती रात की है। फांसी लगाकर आत्महत्या करने की खबर से महकमें में बिलासपुर से रायपुर तक हलचल है। मामले में एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। आत्महत्या के कारणों को पता लगाया जाएगा।
                      शुक्रवार और शनिवार की रात्रि सरकंडा स्थित बाल संप्रेक्षम गृह में एक नाबालिग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है। नाबालिग को कुछ दिनों पहले ही चोरी के एक मामले में हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद पुलिस ने संंप्रेक्षण गृह के हवाले किया था। मामले की जानकारी सुबह हुई। संप्रेक्षण गृह के स्टाफ और अन्य लोगों ने बंद कमरा खोलकर देखा कि नाबालिग फांसी लगाकर खुद को खत्म कर लिया है।
              ओपी शर्मा ने बताया कि प्रबंधन ने मामले की जानकारी दी। नाबालिग खिड़की के सहारे रस्सी से गले को कसा है। नाबालिग की मौत के कारणों का पता लगाया जाएगा। फिलहाल शव को अस्पताल में पीएम के बाद उसके पिता को सुपुर्द कर दिया गया है।
                                    नाबालिग बेटे की मौत से गमगीन पिता राजेश यादव ने कहा कि हमने प्रबंधन की लापरवाही के चलते अपने बेटे को हमेशा हमेशा के लिए खो दिया है। राजेश ने बताया कि बाल सुधार गृह में भारी अव्यवस्था है। यहां राह से भटके बच्चों को अपराधी बनाने के लिए भेजा जाता है। चाहता हूं कि बाल संप्रेक्षण गृह की व्यवस्था में सुधार हो। जिस तरह उसने बेटे को खोया है। ऐसी स्थिति किसी अन्य माता पिता के साथ दुबारा ना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *