मिनी जू में नन्हां शुकर हिरण

IMG-20150712-WA0007बिलासपुर—कानन पेण्डारी जुलाजिकल उद्यान में आज शुकर हिरण ने एक शावक को जन्म दिया है। इसके साथ ही मिनी जू में शुकर हिरणों की संख्या आठ हो गयी है। शुकर को मार्च 2014 में तीतर के बदले लाया गया था। शुकर हिरण सिर्फ सिर्फ दक्षिण पूर्व एशिया और कुछ उत्तर भारत के वनों में पाया जाता है।

                               कानन पेण्डारी में आज शुकर हिरण ने एक नन्हें शावक को जन्म दिया है। सुरक्षा के कारणों को ध्यान में रखते हुए अभी तक शावक का लिंग परीक्षण नहीं किया गया है। 2014 में कानन पेण्डारी के पांच तीतरों के बदले दिल्ली जू से दो नर और तीन मादा शुकर हिरण को लाया गया था। पिछले साल अगस्त और अक्टूबर महीने में दो बच्चों को जन्म दिया था। कानन पेण्डारी में नवजात शुकर हिरण को मिलाकर इस समय इनकी संख्या कुल आठ हो गयी है।

                       मालूम हो कि शुकर हिरण उत्तर भारत के कुछ जंगलों के अलावा दक्षिण पूर्व एशिया में पाया जाता है। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में इनकी संख्या नहीं है। कानन पेन्डारी में दो साल में इनकी वंशवृद्धि जाहिर होता है कि यहां का वातावरण शुकर हिरणों के लिए अनुकूल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.