मुकुंद कम्पनी का वार्षिक सम्मेलन: तखतपुर के टेकचंद कारडा़ को उत्कृष्ट विक्रेता का सम्मान

तखतपुर(टेकचंद कारड़ा)मुकुंद कम्पनी के वार्षिक सम्मेलन में बिलासपुर जिले से तखतपुर के अधिकृत विक्रेता को उत्कृष्ठ विक्रेता के रूप में सम्मानित किया गया।(आप बढ़ेगें तो हम बढ़ेगें)इस अवसर पर कम्पनी के डायरेक्टर दिलीप कुमार चौधरी ने कहा कि आप सभी लोगों का साथ अच्छा लगता है.सभी लोग जब आगे बढ़ंगेंं तब हम भी बढ़ेंगे कम्पनी का उद्देश्य लोगों तक स्वस्थ्य उत्पाद पहुंचाना है कम्पनी के अंकित चौधरी ने कहा कि हमारा लक्ष्य हर उस व्यक्ति तक है। जो बिस्कीट का उपयोग करता है और इस लक्ष्य को प्राप्ति के लिए आप सभी वितरक हमारी सीढ़ी है आशीष चौधरी ने कहा कि कम्पनी को छत्तीसगढ़, बंगाल, उड़ीसा से आए वितरकों से जो सुझाव मिले है उसे भविष्य में पालन किया जाएगा और कम्पनी का प्रयास रहेगा कि किसी भी तरीके से वितरकों को उत्पाद बेचने में परेशानी न हो।

तखतपुर को मिला सम्मान
कलकत्ता में आयोजित मुकुंद बिस्कीट कम्पनी के सेमीनार में बिलासपुर जिले से वासुदेव स्टोर्स तखतपुर के उत्कृष्ठ विक्रेता टेकचंद कारड़ा के रूप में सम्मानित करते हुए स्मृति चिंह और उपहार दिया गया। श्री कारडा़ ने इस अवसर पर कहा कि कम्पनी ने जो सम्मान दिया है वह अस्मरणीय है भविष्य में लक्ष्य पूर्ति के साथ आगे भी इस प्रतिस्पर्धा में कम्पनी को क्षेत्र में नई ऊचांईयों में ले जाने के लिए कोई कसर नही छोंडेंगे। छत्तीसगढ़ से लगभग 30 वितरक शामिल हुए थे जिसमें खरसिया को छत्तीसगढ़ में प्रथम स्थान दिया गया।

इस अवसर पर एरिया सेल्समैनेजर उड़ीसा के सत्यजीत मौलिक, छत्तीसगढ़ के विकास कुमार, पश्चिम बंगाल के सप्त ऋषि घोष ने वर्ष भर के उपब्धियों को विस्तृत रूप से बताया। सेमीनार में लगभग तीनों क्षेत्र से लगभग 110 वितरक शामिल हुए थे।

बिस्कुट कैसे बनते है इस देख आश्चर्यचकित रह गये
क म्पनी में सभी वितरकों को बिस्कीट उत्पादन कैसे होता है इसके लिए अपनी फेक्ट्री का निरीक्षण कराया और सभी वितरकों ने बिस्कीट बनने के इस अद्भूत नजारे को देखकर आवक रह गए जहां सिर्फ हाथ से कच्चे मटेरियल को डाला जाता है और अंत में आटोमेटिक प्रक्रिया से गुजरकर बिस्कीट सीधे पैक होकर निकलता है। इसे देखकर वितरकों देखकर प्रसन्नता जाहिर की और बन रहे बिस्कीट का स्वाद भी लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *