सत्याग्रुप संचालकों के ठिकाने पर आयकर का छापा

income taxबिलासपुर—-जबलपुर और रायपुर आयकर विभाग की संयुक्त टीम ने आज एक साथ कई जगह छापा मारा है। छापामार कार्रवाई विभिन्न स्थानों में एक साथ 9 बजे शुरू हुई। अंतर्राज्यीय आयकर विभाग की संयुक्त टीम ने बिलासपुर आयकर विभाग के साथ बिलासपुर और अकलतरा स्थित सत्या ग्रुप के ठिकानों को भी निशाना बनाया है। व्यापक छापामार कार्रवाई में क्या कुछ निकला इसकी जानकारी देर शाम तक सामने आ जाएगी। मालूम हो कि लोहा, अलकतरा और निर्माण क्षेत्र के व्यवसायी राम अवतार अग्रवाल के ठिकाने पर पहले भी आयकर की टीम ने छापा मारा था।

                                           कर चोरी आंशंका की पुख्ता जानकारी के बाद रायपुर और बिलासपुर की आयकर विभाग की संयुक्त टीम ने आज संयुक्त संचालक रिगनेश की अगुवाई में एक साथ प्रदेश के कई ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की है। संयुक्त संचालक आयकर विभाग रिगनेश ने बताया है कि आयकर विभाग की कई टीम एक साथ जगह-जगह छापामार कार्रवाई कर रही है। विभाग को जानकारी मिली थी कि सत्या ग्रुप के संचालकों ने टैक्स में भारी गड़बड़ियां की है। जानकारी पुख्ता होने के बाद टीम ने सत्या ग्रुप संचालकों के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई का फैसला किया है।  टीम में मध्यप्रदेश के जबलपुर छत्तीसगढ़ के रायपुर समेत बिलासपुर और अन्य जिलों के आयकर विभाग के अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं।

                           बिलासपुर के मशहूर अलकतरा और निर्माण क्षेत्र के व्यवसायी और सत्याग्रुप संचालक रामअवतार अग्रवाल के घर और कार्यालय पर आयकर विभाग टीम फाइल खंगाल रही है। सत्या ग्रुप संचालक रामअवतार अग्रवाल के अलावा सगे भाई बजरंग अग्रवाल, पवन अग्रवाल और रूपेश अग्रवाल के भी ठिकानों पर छापामार कार्रवाई चल रही है। श्रीकांत वर्मा मार्ग स्थित लिंक रोड कार्यालय में आयकर की टीम सुबह से ही फाइलों का हिसाब किताब कर रही है।

             सत्या ग्रुप सड़क निर्माण समेत अन्य निर्माण क्षेत्र में भी काम करता है। आयकर टीम लोकनिर्माण विभाग के ठेकेदार रामअवतार अग्रवाल के अलावा उनके भाई पवन अग्रवाल के बिलासपुर स्थित निवास और कार्यालय में जमी हुई है। पवन अग्रवाल से लगातार पूछताछ कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *