हांफा ग्रामीण और शासन के बीच जिपं में त्रिपक्षीय बैठक

Sakri_hanfa1बिलासपुर–हांफा शराब दुकान मामला अब त्रिपक्षीय वार्ता के टेबल तक पहुंच गया है। त्रिपक्षीय वार्ता की बैठक जिला पंचायत भवन में आज शाम साढ़े पांच बजे होगी। बैठक में ग्रामीणों पर दर्ज एफआईआर हटाने और शराब दुकान स्थान बदलने को लेकर बातचीत होगी। वार्ता में ग्रामीण जनता के प्रतिनिधिमंडल के अलावा आबकारी विभाग और जिला प्रशासन के नुमांइदे शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि इसमें जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण राजेन्द्र शुक्ला,आशीष सिंह ठाकुर के अलावा कांग्रेस के स्थानीय बड़े नेता भी शिरकत करेंगे।

                          करीब 6 घंटे के हाईबोल्टेज  ड्रामा के बाद हांफा शराब भठ्ठी का विरोध करने वाले सत्याग्रही शाम साढ़े पांच बचे त्रिपक्षीय वार्ता में शामिल होंगे। जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला ने बताया कि ग्रामीणों की मुख्य रूप से दो मांगे है। जिन पर तीनों पक्ष विचार विमर्श करेंगे। यदि दोनों मांगे पूरी नहीं होती है तो हांफा के ग्रामीण सत्याग्रह पर दुबारा जाएंगे।

                                                       जानकारी के अनुसार करीब 6 घंटे के हाईबोल्टेज ड्रामा के बाद राजेन्द्र शुक्ला की अगुवाई में जिला प्रशासन और आबकारी प्रशासन त्रिपक्षीय वार्ता के लिए तैयार हो गया है। त्रिपक्षीय वार्ता जिला पंचायत के सभागार में शाम सा़ढ़े पांच बजे से होगी। वार्ता में हांफा सरपंच विजय भौमिक के अलावा राकेश तिवारी समेत अन्य कांग्रेसी नेता उपस्थित रहेंगे। जिला प्रशासन की तरफ से कलेक्टर प्रतिनिधि के अलावा एसडीएम कोटा डिलेराम डाहिरे,सकरी प्रभारी तहसीलदार हेमलता डहरिया और आबकारी विभाग से आबकारी आयुक्त एल.एल.ध्रुव और कुछ चुनिंदा लोग शामिल होंगे।

सत्याग्रही और ग्रामीणों की मांग 

               लगातार 6 घंटे तक जल सत्याग्रह करने वाले ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के सामने दो शर्तें रखी है। पहली शर्त में शराब दुकान तोड़े जाने के बाद निर्दोष लोगों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को वापिस लिया जाए। ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस ने निर्दोष लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है।

                      ग्रामीणों की दूसरी शर्त में बताया कि हमें शराब दुकान से नहीं बल्कि स्थान को लेकर एतराज है। यदि शराब दुकान का स्थान बदल दिया जाता है तो आंदोलन वापस लेने को तैयार हैं। दुकान ऐसी जगह खोली जाए जहां किसी को एतराज ना हो। वर्तमान में जहां दुकान है..वहां से चंद कदम दूर स्कूल…थोड़ी आगे तालाब है ..जहां महिलाए नहाती हैं। शराब दुकान के पास ही श्मशान घाट है। जहां आए दिन शराबियों का मजमा लगा रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *