रेलवे का बड़ा ऐलान- अगले 10 दिन में 2600 ट्रेनें चलाने का लक्ष्य

दिल्ली। रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ट्रेनों को लेकर बड़ा ऐलान किया है. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि अगले 10 दिन में 2600 ट्रेन चलाने का लक्ष्य है. जरूरत पड़ने पर हर स्टेशनों से ट्रेन चलाएंगे. एक हजार टिकट बुकिंग काउंटर्स खुल चुके हैं और धीरे-धीरे सभी टिकट खिड़कियां खुल जाएंगी. साथ ही रेलवे एजेंट, पोस्ट ऑफिस, कॉमन सर्विस सेंटरों आदि को भी टिकट उपलब्ध कराने की अनुमति दी गई है. रेलवे ने एक मई से अब तक 2,570 श्रमिक विशेष ट्रेनों से 32 लाख प्रवासी कामगारों को उनके घरों तक पहुंचाया है. आधिकारिक आंकडों में यह जानकारी दी गई. श्रमिक विशेष ट्रेनें मुख्यत: राज्यों के अनुरोध पर चलाई जा रही हैं जो लॉकडाउन के कारण फंसे प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्यों तक भेजना चाहते हैं. पिछले चार दिनों में औसतन 260 यात्री ट्रेनें चलाई गईं, अगले 10 दिनों में 2600 ट्रेन चलाने की योजना है

रेलवे इन ट्रेनों को चलाने के कुल व्यय का 85 फीसद व्यय खुद वहन कर रही है शेष राशि राज्य दे रहे हैं. कुल 2,570 ट्रेनों में से 505 रेलगाड़ियां अपने गंतव्य तक अभी नहीं पहुंची हैं शेष 2,065 रेलगाडियों ने अपनी यात्राएं पूरी कर ली हैं. रेलवे के आंकडों के अनुसार उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 1246 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां पहुंची हैं, इसके बाद बिहार में 804 और झारंखड में 124 रेलगाड़ियां पहुंची हैं. वहीं, गुजरात ने 759, महाराष्ट्र ने 483 और पंजाब ने 291 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से प्रवासी कामगारों को रवाना किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *