कोरोनाः कलेक्टर ने बताया..जिले में पर्याप्त बिस्तर..डॉक्टर भी मुस्तैद..बड़े नीजि अस्पताल करेंगे इलाज..1842 में 79 प्रतिशत बेड आज भी खाली

बिलासपुर— कोरोना संक्रमण से बढ़ते मरीजों की संख्या के मद्देनजर जिला प्रशासन ने जिले के कमोबेश सभी बड़े अस्पतालों को इलाज के लिए कब्जे में ले लिया है। साथ ही निजी अस्पताल संचालकों को मरीजों का बेहतर इलाज करने का भी निर्देश दिया है। कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर ने बताया कि हमारे पास साढ़े 14 सौ से अधिक मौजूद हैं। साथ ही डाक्टरों की टीम भी मुस्तैद है। जरूरत पड़ने पर अलग से ना केवल विस्तरों की व्यवस्था है..बल्कि कई निजी अस्पताल भी सेवा के लिए तैयार हैं।

                  कुछ दिनों पहले तक जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कोविड -19 और सिम्स में किया जा रहा था। लेकिन मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते जिला प्रशासन ने निजी अस्पताल प्रबंधकों के साथ बैठक कर बिस्तर और इलाज को लेकर सहयोग की मांग की। यह अलग बात है कि इस दौरान प्रशासन को जनहित में कठोर कदम भी उठाना पड़ा। इसके बाद कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए निजी अस्पतालों ने भी सहमति जाहिर किया। कलेक्टर सारांश मित्तर के प्रयास से आज बिलासपुर में सरकारी और गैर सरकारी को मिलाकर 22 अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है।

                 कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर ने बताया कि इस समय सिम्स और कोविड-19 अस्पताल के अलावा कुल 15 सेन्टर में कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। प्रकोप के मद्देनजर जिले के सात बड़े निजी अस्पतालों ने भी संक्रमितों का इलाज करने का फैसला किया है। निजी अस्पताल प्रबंधन और डाक्टरों का विपरीत परिस्थितियों में भरपूर सहयोग मिल रहा है। 

पढ़ें..किस अस्पताल में कितना बिस्तर

  1. कोविड अस्पताल……………..100 बिस्तर
  2. सिम्स…………………………… 100 बिस्तर
  3. सेन्ट्रल रेलवे………………………75
  4. सीआरपीएफ भरनी……………..50
  5. एनटीपीसी सीपत………………..10
  6. मेन्टल हास्पिचल सेन्दरी………10
  7. प्रयास हास्पिचल रमतला………400
  8. चित्रकुट हास्पिटल सुन्दर लाल शर्मा विवि..200
  9. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिल्हा…20
  10. कम्यूनिटी भवन बिल्हा………….70
  11. कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय तखतपुर…50
  12. के.कालेज कर्रा मस्तूरी……………100
  13. डॉ.सीवी रमन विश्वविद्यालय कोटा….150
  14. गवर्मेन्ट ब्यावज हास्टल मस्तूुरी…….70
  15. सेन्ट जोसेफ हाईस्कूल जयरामनगर….50

  निजी  अस्पतालों के नाम

  1. महादेव  हास्पिटल बिलासपुर……….150
  2. अपोल हास्पिटल बिलासपुर………….35
  3. आरबी हास्पिटल स्वर्णजयंति नगर…100
  4. श्रीराम केयर नेहरू नगर……………….33
  5. जेएसएस गायत्री………………………….4
  6. स्काई एण्ड लाइफ केयर………………..50
  7. किम्स हास्पिटल………………………….15

 कहां कितना बिस्तर खाली

              कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर ने बताया कि निजी अस्पतालों को मिलाकर हमारे पास बहुत बिस्तर खाली है। सिम्स और कोविड अस्पताल के 200 में से सामान्य और आईसीयू बेड को मिलकर मात्र 38 प्रतिशत मरीजों का इलाज चल रहा है। इसके अलावा बाकी बिस्तर खाली हैं। शासकीय प्रयास से बनाए गए 13 कोरोना सेन्टर में बिस्तरों की कुल संख्या 1455 है। इसमें अभी भी 1115 बिस्तर अभी खाली है। मात्र 21 प्रतिशत बेड का प्रयोग किया जा रहा है।

                  इसके अलावा कब्जा किए गए सात अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या 387 है। इसमें मात्र 20 प्रतिशत बेड पर ही इलाज किया जा रहा है। बाकी बेड खाली हैं। कलेक्टर ने बताया कि जिले के कुल 22 अस्पतालों में 1855 बेड हैं। इसमें अभी भी 80 प्रतिशत बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए खाली है। अस्पतालों में आईसीयू की व्यवस्था है। इसलिए किसी मरीज को परेशान होने की जरूरत नहीं है। लेकिन सबको कोरोना से बचने की जरूरत है। इसके सबको शासन के दिशा निर्देशों का गंभीरता से पालन करना होगा।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...