प्रेम मीटिंग में यात्री सुरक्षा पर चिंतन..

1(2)बिलासपुर—-दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, मुख्यालय बिलासपुर में जोनल स्तर पर प्रेम मीटिंग का आयोजन किया गया। बैठक में रेलवे संगठन के यूनियन,एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने प्रबंधन के साथ विचार विमर्श किया। संगठन की उत्पादकता और कार्यप्रणाली में गुणात्मक सुधार पर चर्चा हुई। बैठक की अध्यक्षता महाप्रबंधक सत्येन्द्र कुमार ने की।

                   प्रेम मीटिंग में विभागाध्यक्षों के अलावा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस अध्यक्ष तपन चटर्जी, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अनुसूचित जाति एवं जनजाति रेलवे कर्मचारी एसोसिएशन महासचिव प्रशान्त पासवान, जोनल सहासचिव पिछड़ा वर्ग रेलवे कर्मचारी एसोसिएशन के महासचिव एस.भिष्मुडू, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे आफिसर्स एसोसिएशन अध्यक्ष शिवराज सिंह, महासचिव उदय भारती,  दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे प्रमोटी आफिसर्स एसोसिएशन वर्किग महासचिव के. श्रीनिवास,पी.प्रसाद राव, वार्ककिंग कामेटी और अखिल भारतीय रेल सुरक्षा बल संगठन अध्यक्ष एम.एल.यादव एवं महासचिव एस.के. महतो  उपस्थित थे।

बैठक की शुरुआत में एम.एल.यादव ने प्रेजेंटेशन के जरिए यात्री और यात्री परिसर की सुरक्षा को और अधिक सुदृढ़ करने का सुझाव दिया। पावर प्वाइंट स्लाईड के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी गयी। बैठक में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महत्तवपूर्ण रेलवे स्टेशन एवं यात्री ट्रेनों में सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक सुदृृढ़ बनाने का निर्णय लिया गया। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन की तीनों रेल मंडलो के रेलवे काॅलोनियों में स्वच्छता अभियान के तहत पानी निकासी की व्यापक व्यवस्था पर भी विचार विमर्श किया गया।

          बैठक के प्रारंभ में उप महाप्रबंधक एवं मुख्य जनसंपर्क अधिकारी डाँ. प्रकाश चन्द्र त्रिपाठी ने महाप्रबंधक सत्येन्द्र कुमार समेत सभी अधिकारियों और यूनियन पदाधिकारियों का स्वागत किया। महाप्रबंधक ने उपस्थित सभी अधिकारियों और संगठन पदाधिकारियों को संविधान दिवस की बधाई दी।

एकता और अखण्डता की शपथ

Constitution Dayबिलासपुर रेल मंडल ने गरिमामय माहौल में संविधान दिवस मनाया गया। उपस्थित लोगों को मंडल रेल प्रबंधक बी.गोपीनाथ मलिया ने बताया कि विश्व में भारत के संविधान को बहुत आदर के साथ देखा जाता है। भारत के संविधान निर्मात्री समिति ने 2 वर्ष 11 माह 18 दिन के बहुत कम समय में ही दुनिया का सबसे बेहतरीन और शक्तिशाली संविधान का निर्माण किया। 26 नवम्बर 1949 को भारतीय संविधान को संविधान सभा में पारित किया गया। देश की जनता ने 26 जनवरी 1950 को अंगीकृत किया।

                          इस मौके पर बिलासपुर मंडल रेल प्रबंधक गोपीनाथ मलिया और उपस्थित कर्मचारी और अधिकारियों ने संविधान की प्रस्तावना का वाचन किया। उपस्थित लोगों ने शपथ लेते हुए व्यक्ति की गरिमा, राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढाने का शपथ भी लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *