सत्र के बीच स्थानांतरण का विरोध..बच्चों ने मांगा शिक्षक

DSCN6076बिलासपुर— मस्तूरी और जांजी स्कूल के बच्चों ने आज कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। बच्चों ने पंचायत शिक्षकों के स्थानांतरण के विरोध किया। बच्चों के साथ अभिभावकों ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के कुछ माह पहले शिक्षकों के स्थानांतरण से पढ़ाई पर प्रभाव पड़ेगा।

                   मस्तूरी और जांजी के हायर सेकंडरी के छात्र छात्राओं ने आज कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर पंचायत शिक्षकों के स्थानांतरण का विरोध किया है।  छात्र-छात्राओं ने बताया कि जांजी स्कूल में इतिहास का एक सिर्फ एक ही लेक्चरर हैं। स्थानांतरण होने के बाद इतिहास की पढ़ाई नहीं हो रही है। परीक्षा सिर पर है लेकिन सिलेबस अभी पूरा नही हुआ है। अचानक तबादला से पढ़ाई पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। छात्रों ने स्कूल सेशन के बीच स्थानांतरण का विरोध किया है।

                        विद्यार्थियों ने बताया कि जिस स्कूल में शिक्षक का तबादला हुआ है वहां अपेक्षाकृत विद्यार्थियों की संख्या बहुत कम है। जांजी स्कूल के छात्र-छात्राओं के अभिभावकों ने बताया कि शासन ने भौतिक शास्त्र और हिन्दी के शिक्षको का भी स्थानंंतरण कर दिया है। दोनो शिक्षक स्कूल में अपने विषय के अकेले हैं। उनके जाने के बाद बच्चों को कौन पढ़ाएगा। सिलेबस भी पूरा नहीं होगा। इसलिए शिक्षको का स्थानांतरण रोका जाए।

                         एसडीएम के डी कुंजाम ने विद्यार्थियों और परिजनों को मामले में जिला शिक्षा विभाग और जिला पंचायत विभाग को जानकारी देने की बात कही है।

शिक्षक वापसी की मांग

                     जांजी स्कूलविद्यार्थियों की शिकायत के बाद मस्तूरी शासकीय हाईस्कूल के छात्र छात्राओं ने भी कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर स्थानांतरित किये गए शिक्षक को वापस बुलाने की मांग की। विद्यार्थियों ने बताया कि एग्रीकल्चर और व्यवसायिक पाठ्यक्रम के शिक्षक का तबादला कर दिया गया है। जिसके चलते पढ़ायी को नुकसान हो रहा है। जनवरी में प्री बोर्ड और फरवरी में बोर्ड की परीक्षा होने वाली है। सिलेबस भी पूरा नही हुआ है। इसलिए हमारे शिक्षक के स्थांतरण को रद्द किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *