अटल,नरेन्द्र,आशीष,राजेन्द्र समेत सैकड़ों कांग्रेसी गिरफ्तार…बंद को बताया सफल

IMG-20161230-WA0027बिलासपुर-IMG-20161230-WA0026–नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस के प्रदेश व्यापी बंद अभियान में पुलिस ने पीसीसी महामंत्री समेत जिले के दिग्गज नेताओं को हिरासत में लिया है। पुलिस ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को हिरासत में लेकर बहतराई स्टेडियम में रखा है। इधर जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला की अगुवाई में पार्टी कार्यकर्ताओं ने तिफरा, चकरभाटा को बंद किया है। खबर लिखे जाने तक राजेन्द्र शुक्ला और उनके समर्थकों को तालापारा से पुलिस ने हिरासत में लिया है।

                            तारबाहर चौक से पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव,विजय पाण्डेय,नरेन्द्र बोलर समेत दो दर्जन से अधिक कांग्रेस नेताओ को पुलिस ने हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए सभी कांग्रेसियों को पुलिस ने अस्थायी कारावास बहतराई स्टेडियम में रखा है। कांग्रेस नेताओं ने पुलिस की कार्रवाई को बर्बर बताया है। पीसीसी महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने बताया कि शासन ने प्रशासनिक तानाशाही कर हमारे अधिकारों का हनन किया है।

          अटल ने बताया कि बंद को व्यापक समर्थन मिला है। लोगों ने दुकान स्वस्फूर्त बंद किया है। हमने किसी पर दबाव नहीं डाला है। जनता और व्यापारियों का हमें सहयोग मिल रहा है। बंद की सफलता को देखते हुए सरकार ने दमन कर प्रतिनिधियों को हिरासत में लिया है।

             नरेन्द्र बोलर ने बताया कि जनता परेशान है। पुलिस गिरफ्तारी कर जनता की आवाज को सरकार दबा नहीं सकती है। नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था जर्जर हो चुकी है। आम जनता का जीवन मुश्किल हो गया है। जनप्रतिनिधियों को सरकार जानबूझकर परेशान कर रही है।

सकरी में आशीष सिंह गिरफ्तार

 IMG-20161230-WA0031                   सकरी क्षेत्र में पुलिस ने पीसीसी सचिव आशीष सिंह को हिरासत में लिया है। आशीष के साथ करीब दो दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर सकरी चौकी में रखा गया है। आशीष सिंह ने सकरी बंद को सफल बताया है। आशीष के अनुसार सरकार की तानाशाही को कांग्रेस के प्रदेश व्यापी बंद आंदोलन ने उजागर किया है। सभी ने कांग्रेस के बंद को समर्थन किया है। सरकार कांग्रेस के बंद से भयभीत हो गयी है। आशीष सिंह के साथ गिरफ्तारी देने वालों में प्रमुख रूप से धर्मेश दुंबे,राकेश तिवारी,राजेश देवांगन,मुकेश तिवारी,अजय कोल,शत्रहन मेहेर,राकेश दुेबे,अमर गुप्ता,,संजय भार्गव,सूरज मिश्रा,गुड्डा यादव,विनय यादव,गगन पल,राहुल श्रीवास समेत 63 लोग शामिल हैं।

तारबाहर चौक से हिरासत में राजेन्द शुक्लाIMG-20161230-WA0025

                       राजेन्द्र शुक्ला को पुलिस ने तारबाहर पुलिस ने तालापारा चौक से हिरासत में लिया है। इस दौरान राजेन्द्र शुक्ला और पुलिस के बीच जमकर बहस हुई है। राजेन्द्र और उनके समर्थनों ने गिरफ्तारी का विरोध किया है। राजेन्द्र अपने समर्थकों के साथ तिफरा,चकरभाटा बंद करवाने के बाद महाराणा प्रताप चौक से जैसे ही तालापारा चौक के पास पहुंचे पुलिस ने घेर लिया। बल के साथ पचास से अधिक समर्थकों के साथ राजेन्द्र शुक्ला को हिरासत मे लिया। आक्रोशित राजेन्द्र समर्थकों ने पुलिस कार्रवाई का इस दौरान जमकर विरोध किया। इस दौरान पुलिस बल और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर झूमाझटकी भी हुई है। अन्ततः जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला और समर्थकों को हिरासत में लेकर अंजान स्थान भेज दिया गया।

                IMG-20161230-WA0095राजेन्द्र ने बताया कि मजदूर,किसान,गरीब और आम जनता के खिलाफ दमनकारी सरकार को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। नोटबंदी का विरोध करते हुए जिला ग्रामीण अध्यक्ष ने कहा कि समर्थन मू्ल्य और बोनस हड़पने वाली सरकार ने नोटबंदी कर गरीब जनता की कमर तोड़ दी है। हम सरकार के तुलगकी फरमान का विरोध करते हैं और करते रहेंगे।

हिरासत में महिला कांग्रेस नेत्री

सिम्स चौक से एक दर्जन से अधिक महिला कांग्रेस नेत्रियों नोटबंदी का विरोध करते हिरासत में लिया गया है। महिला नेत्रियों ने नोटबंदी अभियान के खिलाफ कांग्रेस के बंद को सफल बताया। पुलिस ने सभी महिला कांग्रेस नेताओं को बहतराई स्टेडियम भेज दिया है। महिला नेत्रियों ने बताया कि कांग्रेस के बंद अभियान से सरकार घबरा गयी है।

मस्तूरी विधायक गिरफ्तार

मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया और उनके समर्थकों को बड़ी संख्या में पुलिस ने हिरासत में लिया है। लहरिया नोटबंदी के खिलाफ मस्तूरी में प्रदेश बंद का समर्थन कर थे। लहरिया के साथ ब्लाक कांग्रेस नेता विरेन्द्र शर्मा को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। लहरिया ने पुलिस कार्रवाई को गैर लोकतांत्रिक बताया है। उन्होने कहा कि जनता सड़क पर आ गयी है। सरकार को अब सबक सिखाकर ही मानेगी।

शहर में कर्फ्यू का माहौल

आज सुबह दुकान नहीं खुला। शहर में सुबह से ही कर्फ्यू का माहौल देखने को मिला। कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने या तो घर से हिरासत में लिया। या फिर स़ड़क पर उतरते ही उन्हें धर दबोचा। कांग्रेसियों को धरपकड़ अस्थायी जेल भेजा। जगह जगह कुछ व्यापारियों ने बंद का विरोध किया। लेकिन कांग्रेसियों के तेवर के सामने उन्हें दुकान बंद करना पड़ा। सुबह 11 बजे तक बिलासपुर समेत आस पास के क्षेत्र में कोई दुकान नहीं खुले। कुल मिलाकर कांग्रेस ने बंद को सफल बताया है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...