लक्ष्य और इरादे नेक हों…काम भी अच्छे होंगे…अन्बलंगन पी.

IMG-20170610-WA0016बिलासपुर—सहकारिता विभाग के अधिकारियों ने बिलासपुर पूर्व कलेक्टर अन्बलंगन पी को एक कार्यक्रम में भावभीनी विदाई दी। अधिकारियों और कर्मचारियों ने अन्बलगन पी. के सेवा कार्य को याद किया। उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए बधाई दी। कार्यक्रम को केन्द्रीय जिला सहकारी मर्यादित बैंक मुख्य कार्यपालन अधिकारी अभिषेक तिवारी, जिला सहकारी संस्थाएं उप पंजीयक दिलीप जायसवाल ने संबोधित किया। सभी वक्ताओं ने बिलासपुर कलेक्टर रहने दौरान अन्बलंगन पी की कार्यप्रणाली की तारीफ की।

                         एक हॉटल में आयोजित विदाई कार्यक्रम के दौरान जिला सहकारी बैंक सीईओ और दिलीप जायसवाल समेंत अन्य कर्मचारी और अधिकारियों ने अन्बलंगन पी. का बुके और फूल माला से स्वागत किया।

                    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अभिषेक तिवारी ने कहा मुझे गर्व है कि ऐसे अधिकारी के मार्गदर्शन में करने का मौका मिला। जिन्होने तमाम व्यस्तता के बीच किसानों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिये। प्राधिकृत अधिकारी बनने के बाद बैंक सीईओ होने के नाते मुझे बिलासपुर के तात्कालीन कलेक्टर को नजदीक से जानने समझने का मौका मिला। उन्होने अपने कार्यकाल के दौरान किसानों के हित में कई कदम उठाए। उनके मार्गदर्शन और सफल प्रयास से जिला सहकारी बैंक ने ना केवल किसानों के विश्वास को जीता…बल्कि बैंक की प्रतिष्ठा को भी मजबूती के साथ स्थापित किया। दिन रात एक कर बैंक को घाटे से निकाला। बैंक ने अन्बलंगन पी. के मार्गदर्शन में धान खरीदी के दौरान जीरो शार्टेज का रिकार्ड बनाया। उन्होने बैंक कर्मचारियों के हित में भी कई कदम उठाए। हो सकता है कि यह कदम वर्तमान परिस्थितियों में तकलीफ हो….लेकिन बैंक के हित में जरूरी था। उन्होने कर्मचारियों के बीच वर्क कल्चर को विकसित किया। जो किसी भी बैंक की  प्रगति के लिए बहुत जरूरी है। दिलीप जायसवाल ने भी अपने विचार रखे।

                                  कार्यक्रम को अतिथि अन्बलगन पी.ने संबोधित किया। उन्होने कहा किसान देश के रीढ़  हैं। सभी के जीवन में उतार चढ़ाव का दौर आता है। प्राधिकृत अधिकारी होने के नाते मैने वही किया जैसा सरकार का निर्दश था। बैंक की सफलता में सबसे ज्यादा योगदान सहकारी बैंक के कर्मचारियों का है। मुझे खुशी हुई कि बैंक कर्मचारियों के साथ सीधे तौर पर काम करने का मौका मिला। अन्बलंगन पी ने कहा कि मुझे किसानों के सुख दुख का अच्छी तरह से अहसास है। इसी अहसास और बैंक कर्मचारियों के जुझारूपन नें मुझे मुझे काम करने का अवसर दिया। इस दौरान जो कुछ भी निर्णय लिया गया.. बैंक के हित में जरूरी था। खुशी हुई कि मुझे किसानों के लिए कुछ करने का सीधा अवसर मिला। क्योंकि किसान बैंको के लिए नहीं..बल्कि देश के एक एक नागरिकों के लिए महत्वपूर्ण हैं। उपस्थित लोगों के प्यार देखने के बाद मुझे महसूस हुआ कि हमारी टीम कामयाब हुई है। व्यक्तिगत और सरकारी स्तर पर सहयोग की जरूरत होगी…मुझे बैंक और किसानों के हित में साथ पाएंगे। अन्बलंगन पी.ने कहा उद्देश्य स्पष्ट और नेक हो तो काम अच्छे ही होंगे।

                 कार्यक्रम को दिलीप जायसवाल ने भी संबोधित किया। सभी ने अन्बलंगन पी के उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। अन्बलंगन पी ने भी उपस्थित सभी लोगों को रायपुर आने पर मिलने को कहा।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...