तूफान में बदला चक्रवात ‘फोनी’, 205 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती रफ्तार,NDRF की टीमे तैनात


भुवनेश्वर।
बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ प्रचंड रूप ले चुका है। इसके शुक्रवार दोपहर तक ओडिशा के तट पर गोपालपुर और चांदबली के बीच से गुजरने की आशंका है। उस समय इसकी अधिकतम रफ्तार 175 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे के आसपास होगी जो 205 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। इस बीच ओडिशा में अलर्ट जारी करते हुए स्कूल-कॉलेजों की 2 मई तक छुट्टी कर दी गई है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने ओडिशा के लिए ‘येलो वॉर्निंग’ जारी की है।सीजीवालडॉटकॉम के Whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

चक्रवात फोनी प्रचंड तूफान में बदल गया है और शुक्रवार दोपहर तक यह गोपालपुर और चांदबाली के बीच ओडिशा तट को पार करेगा। मौसम विभाग ने इस संबंध में जानकारी दी है।मौसम विभाग ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्रप्रदेश के कुछ हिस्से के लिए चक्रवात का अलर्ट जारी किया है और तटीय इलाके को खाली करने का सुझाव दिया है ।

यह भी पढे-KBC में करोड़पति बनने का ये है प्रोसेस, जानें KBC Registration का तरीका

मौसम विभाग के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि चक्रवात फोनी दक्षिण पश्चिम और पश्चिम मध्य और दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी की ओर है। यह पुरी (ओडिशा) के 760 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और विशाखापत्तनम (आंध्रप्रदेश) के 560 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपूर्व तथा त्रिणकोमली के 660 किलोमीटर उत्तर-उत्तरपूर्व (श्रीलंका) में है।मौसम विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि इसने प्रचंड तूफान का रूप अख्तियार कर लिया है।

यह भी पढे-वाराणसी से सपा बसपा महागठबंधन उम्मीदवार तेज बहादुर यादव समेत 80 कैंडिडेट्स का नामांकन रद्द, बीएसएफ के पूर्व जवान ने कहा- जाऊंगा सुप्रीम कोर्ट

प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ के भारतीय पूर्वी तट की ओर बढ़ने पर नौसेना और तटरक्षक बल के जहाज तथा हेलीकॉप्टर, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की राहत टीमों को महत्वपूर्ण स्थानों पर तैनात किया गया है जबकि सेना और वायु सेना की टुकड़ियों को तैयार रखा गया है।आपात स्थितियों से निपटने के लिए देश की शीर्ष संस्था राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने मंगलवार को दूसरी बार बैठक की और चक्रवाती तूफान से पैदा होने वाली स्थिति से निपटने के लिए राज्यों और केंद्र सरकार के संबंधित विभागों की तैयारी की समीक्षा की,एनडीआरएफ आंध्र प्रदेश में 41 टीमों, ओडिशा में 28 और पश्चिम बंगाल में पांच टीमों को तैनात कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *