10वी-12वी के बच्चों की हर सप्ताह होगी यूनिट टेस्ट,कलेक्टर ने दिए कुछ स्कूलों में कैम्प बंद मिलने पर प्राचार्यों को नोटिस जारी करने के निर्देश


डाईट, 08 अधिकारी-कर्मचारी,गैरहाजिर,कलेक्टर, शो-कॉज नोटिस जारी,छात्रावास अधीक्षक,शो कॉज नोटिस,मतदान अधिकारियों,प्रशिक्षण,लोकसभा चुनाव,अनुपस्थित,,नोटिस जारी,chhattisgarh,गैरहाज़िर ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक,मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव,kondagaon,chhattisgarh news,hindi newsबलोदाबाज़ार।
जिले में कक्षा दसवीं और बारहवीं बोर्ड के स्कूली बच्चों की शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार के लिए इस वर्ष ईकाई परीक्षा (यूनिट टेस्ट) ली जाएगी। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल जिला कार्यालय में आयोजित समय-सीमा की बैठक में प्रति सप्ताह इसकी समीक्षा करेंगे। संकुल केन्द्रवार इसकी समीक्षा करके जवाबदारी तय की जाएगी। कलेक्टर  ने अधिकारियों की साप्ताहिक बैठक में आज इस आशय के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि नगरीय निकायों द्वारा शहर की कचरों से निर्मित जैविक खाद का इस्तेमाल सरकारी नर्सरियों मंे किया जाएगा। उद्यान विभाग, कृषि विभाग, वन विभाग द्वारा संचालित नर्सरियों और फार्म हाऊसों द्वारा निर्धारित कीमत पर इसकी खरीदी की जाएगी। बैठक में जिला पंचायत के सीईओ एस.जयवर्धन, अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

उल्लेखनीय है कि जिले के कसडोल नगर पंचायत द्वारा अवशिष्ट पदार्थों से जैविक खाद निर्माण का काम सफलता पूर्वक किया जा रहा है। समय-सीमा की बैठक में आज इस संबंध मंे प्रस्तुतिकरण दिया गया। कलेक्टर ने कसडोल के काम की सराहना करते हुए जिले की अन्य नगरीय निकायों को भी इस तरह  काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने झोला-छाप डॉक्टरों के विरूद्ध कार्रवाई आगे भी जारी रखे रहने को कहा है। कलेक्टर ने सरकारी डॉक्टरों को निर्धारित समय पर अस्पताल पहुंचकर जनता का इलाज करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों के सही काम-काज से झोला-छाप डॉक्टर नहीं पनप पाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी काम-काज के लिए यदि जरूरी हुआ तो आधार कार्ड के आखिरी चार अंक को ही दर्ज करना है। कुल सोलह अंक के आधार नम्बर होते हैं। पहले के बारह अंको की जगह केवल एक्स लिखना है। जन्म-मृत्यु पंजीयन के लिए आधार नम्बर देना जरूरी नहीं है, लेकिन इसके बदले कोई और पहचान पत्र देना होगा।

कलेक्टर ने कौशल विकास योजना के अंतर्गत कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन और मछलीपालन विभाग द्वारा लक्ष्य के अनुरूप काम नहीं करने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने इसकी प्रगति का पोर्टल में अपलोड करना जरूरी बताया। कलेक्टर श्री गोयल ने बैठक में ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर की भी समीक्षा की। उन्होंने कुछ स्कूलों में कैम्प बंद मिलने पर संबंधित प्राचार्यों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। खेल अधिकारी ने बताया कि सोमवार को मोहतरा, डमरू, सुढ़ेला, लटुआ, कोसमंदा में शिविर आयोजित नहीं किया गया। उन्होंने हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के अंतर्गत जिले में पौधरोपण की तैयारी अभी से शुरू करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा नदियों और सड़कों के किनारे इस साल पौधे लगाए जाएंगे। अभी से स्थल चिन्हित करके रिपोर्ट किया जाए। मनरेगा के अंतर्गत देशी प्रजाति जैसे-इमली, नीम, जामुन, बरगद के पेड़ तैयार करने के निर्देश उद्यान विभाग को दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *