भाजयुमों नेताओं का राज्यपाल को पत्र..पीएससी पर लगाया अनियमितता का आरोप..10 सूत्रीय मांग पेश कर कहा..सरकार से कराएं वादा पूरा

बिलासपुर— भाजयुमों जिला अध्यक्ष निखिल केशरवानी की अगुवाई में युवा नेताओं ने जिला प्रशासन को दस सूत्रीय मांग पत्र राज्यपाल के नाम दिया। निखिल केशरवानी ने बताया कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग अनियमितताओं का केन्द्र बन गया है। जाहिर सी बात है कि इसका असर युवा पीढियों पर पड़ रहा है। अनियमितताओं के लिए दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जरूरत है।

                   जिला प्रशासन को भाजयुमो जिला अध्यक्ष निखिल केशरवानी ने दस सूत्रीय मांग पत्र राज्यपाल के नाम दिया। निखिल केशरवानी ने बताया कि पिछले दिनों लोक सेवा आयोग की अनियमितताओं के खिलाफ पूरे प्रदेश में भाजपा युवा मोर्चा ने हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। जिले से 13 हजार से अधिक युवा प्रतियोगियों ने अभियान का समर्थन किया है। सभी युवाओं ने अभियान में शिरकत कर दस सूत्रीय मांग का समर्थन किया है।

            निखिल ने जानकारी दी कि हमने राज्यपाल के सामने पत्र के माध्यम से दस सूत्रीय मांग को पेश किया है। इसमें प्रमुख रूप से लोकसेवा आयोग की लापरवाही को उजागर किया गया है। पत्र में बताया गया है कि छत्तीसगढ का युवा उस विशेषज्ञ को जानना चाह रहा है जिसने छत्तीसगढ में दक्षिण पश्चिम मानसून से वारिश करवाता है। निखिल ने कहा कि मामले में न्यायिक जांच हो। प्रश्न तैयार करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो।

                    भाजपा युवा मोर्चा की मांग है कि 2014 के बाद की परम्परा को लागू किया जाए। संविधान दिवस के दिन लोक सेवा आयोग विज्ञापन जारी करे। अगले प्रीलिम्स के पहले हर हाल में पिछले वर्ष की नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाए। उत्तर पुस्तिका की कार्बन कापी प्रदान किया जाए। सभी परीक्षा केन्द्रों की विडियोग्राफी करायी जाए। प्रत्येक जिले में एक यानि प्रदेश में कुल 28 परीक्षा केन्द्र की घोषणा तत्काल हो।          

                निखिल केशरवानी ने बताया कि राज्यपाल को लिखे पत्र में हमने कहा है कि परीक्षा में माइनस मार्किंग को लेकर स्पष्ट निर्देश हो। इसेक अलावा एसआई रेंजर भर्ती, विधानसभा जैसी सभी भर्तियों को लेकर लंबित विज्ञापनों को तत्काल जारी किया जाए। साथ ही कांग्रेस सरकार अपने घोषणा पत्र के अनुसार सरकारी नौकरी का अवसर पैदा करे।        

Tags:,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *