सावधानः कलेक्टर ने दिया आदेश…गुटखा खाने वालों पर लगेगा 500 का जुर्माना…सिम्स में रेडक्रास सोसायटी को यह आदेश

BHASKAR MISHRA
3 Min Read

बिलासपुर—कलेक्टर ने सिम्स अस्पताल का किया आकस्मिक निरीक्षण किया। मरीजों से मिलकर कुशलक्षेम पूछा। अवनीश शरण ने विभिन्न वार्डों का भ्रमण भी किया। मरीजों से संवाद कर इलाज की जानकारी लिया। इस दौरान कलेक्टर ने खराब लिफ्ट को तत्काल दुरूस्त करने का निर्देश भी दिया है।

कलेक्टर अवनीश शरण ने बुधवार की शाम सिम्स अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया। करीब एक घण्टे से अधिक समय तक सिम्स स्थित वार्डों का जायजा लिया। मरीजों की सुविधा के लिए पंजीयन विभाग में टोकन सिस्टम शुरू करने का निर्देश दिया। स्त्री रोग विभाग के बाहर गलियारे में मरीजों के परिजनों के बैठने के लिए अतिरिक्त कुर्सिया लगाने का आदेश दिया।

अवनीश शरण ने इस दौरान सिम्स में खराब दोनों लिफ्ट को तत्काल सुधारने का निर्देश दिया। मरीजों की सुविधा के लिए अतिरिक्त लिफ्ट का प्रस्ताव तैयार करने कहा। इलाज कराने आए मरीजों से कलेक्टर ने संवाद किया। रसोईघर  पहुंचकर मरीजों के लिए बनाये गये भोजन को देखा और स्टोर कमरे में रखे कंडम सामग्रियों को विनष्टीकरण की कार्रवाई करने को कहा। इस दौरान नगर निगम कमिश्नर कुणाल दुदावत, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी अजय अग्रवाल, सीएमएचओ डॉ. राजेश शुक्ला, अस्पताल अधीक्षक डॉ. एस के नायक विशेष रूप से उपस्थित थे।

      कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान कॉकरोच से बचाव के लिए पेस्ट कंट्रोल समेत अन्य सुरक्षात्मक उपाय अपनाने को कहा। अस्पताल में उपलब्ध विभिन्न सामग्रियों को मरीजों के हित में उपयोग पर जोर दिया। टॉयलेट और वाशरूम का भी निरीक्षण किया। नियमित साफ-सफाई का निर्देश भी दिया। इस दौरान सफाईकर्मियों ने कलेक्टर ने बताया कि  हर महीने लगभग 25 तारीख को भुगतान किया जाता है। परेशानियों को सुनने के बाद कलेक्टर ने तत्काल संबधित एजेंसी को  महीने की 05 तारीख तक भुगतान करने को कहा।

रेडक्रास सोसायटी को 100 कंबल सिम्स में और 50 कंबल जिला अस्पताल में मरीजों को उपलब्ध कराने को कहा। डॉक्टरों की ड्यूटी चार्ट सुस्पष्ट अक्षरों में मोबाईल नम्बर के साथ प्रदर्शित करने को कहा है। कलेक्टर ने सीएमएचओ को निर्देश दिया कि निजी अस्पतालों के डॉक्टर भी प्रिस्क्रीपशन कैपिटल अक्षरों में ही लिखें। अस्पताल में फर्श पर हुई टूटफूट को  तत्काल मरम्मत को भी कहा। उन्होंने अस्पताल परिसर में गुटखा खाकर आने वाले लोगों पर पाबंदी लगाने को कहा। साथ ही  गुटखा खाकर थूकने वालों पर 500 रूपए का जुर्माना लगने को कहा है।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close