मेरा बिलासपुर

मोदी फाड़ना चाहते हैं संविधान…खत्म करना चाहते हैं आरक्षण…बोले राहुल गांधी…महिलाओं के खाते में आएगा टकाटक.टकाटक.टकाटक रूपया

बिलासपुर—सकरी स्थित कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता वोट मांगा। अपने भाषण में केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि 2024 का चुनाव लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। दलितों, आदिवासी और पिछड़ों सामान्य जाति के गरीबों लोगों को जीवन और मरण का सवाल है। आरक्षण को बचाने का चुनाव है। भाजपा इन सभी को खत्म करना चाहती है। संविधान को खत्म कर नया संविधान बनाना चाहती है। और कांग्रेस विश्व के सबसे बड़े संविधान को बचाना चाहती है। सभी के अधिकार के लिए चुनाव लड़ रही है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

सकरी स्थित डेंटल कालेज के मैदान में चुनावी सभा को राहुल गांधी ने संबोधित किया। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा और RSS पर जमकर हमला बोला। राष्ट्रीय नेता ने कहा कि जो लोग राजनीति समझते हैं..उन्हें मालूम है कि साल 2024 का चुनाव दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ भाजपा है जो भारत के संविधान को खत्म कर अमीरों के लिए संविधान लिखने की तैयारी में है। उनका कहना है कि चार सौ पार के बाद भारत के संविधान को बदला जाएगा। दूसरी तरफ कांग्रेस है जो गरीबों,दलितों,आदिवासियों के अधिकार को सुरक्षित रखने भारतीय संविधान को बचाने के लिए चुनाव लड़ रही है।

राहुल गांधी ने भाजपा, आरएसएस और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होने कहा कि संविधान को फाड़ के फेंकने की तैयारी हो रही है। भाजपा चाहती है कि देश में 20- 22 अरबपति राज करें। लेकिन भारत की जनता को समझना होगा। हाथ में भारत का संविधान उठाकर भीड की तरफ इशारा करते हुए राहुल ने कहा कि यह केवल एक किताब नहीं…यह भारत की जिन्दगी है। इसी ने गरीबों को अधिकार दिया है।  यह किताब गरीबों की ताकत है। आपकी जल, जंगल और जमीन को बचाता है और जमीर की रक्षा भी करता है।

संविधान से ही वोट का अधिकार मिला। संविधान से ही रिजर्वेशन निकला। संविधान से ही आपको सारे मिले हैं। यदि संविधान को फाड़कर फेका गया तो सब कुछ खत्म हो जाएगा। राहुल ने कहा कि दरअसल भाजपा की विचारधारा अंबेडकर, नेहरू और गांधी की विचारधारा से मेल नहीं खाता है। इनकी विचारधारा अंबानी और अदानी जैसों को फायदा पहुंचाने वाली है।

राहुल ने दुहराया कि जब हम कहते थे कि संविधान खतरे में है..तो लोग भरोसा नहीं करते थे। लेकिन अब लोग समझ गए है। भाजपा इस बार पुरजोर तरीके से संविधान पर आक्रमण कर रही है। आक्रमण रिजर्वेशन पर है, पब्लिक सेक्टर पर है। इसकी शुरूआत हो भी चुकी है। पब्लिक सेक्टर के उद्यमों को ठेके पर दिया जा रहा है। रेलवे को भी निजीकरण किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। इससे आरक्षण खत्म होगा।

उन्होने कहा अब चुनाव लोकतंत्र, संविधान और रिजर्वेशन बचाने का है। राहुल ने कहा कि पहले भाजपा नेता नारा लगाते थे कि अबकी बार 400 पार। लेकिन अब 150 पार भी नहीं बोल रहे हैं। क्योंकि  उन्हें समझ में आ गया  है कि जनता जाग चुकी है। और कहने लगे है कि हम संविधान और रिजर्वेशन के खिलाफ नहीं है।

राहुल गांधी ने किताब लहराते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी तो दूर दुनिया की कोई ताकत नहीं है जो भारत के संविधान को फाड़ के फेंक सके। उन्होने कहा कि नरेंद्र मोदी ने 22 उद्योगपतियों को 16 लाख करोड़ रुपए कर्च माफ कर दिया।  यह बहुत बड़ी रकम होती है। लेकिन उनके पास गरीबों के कर्च माफ करने के लिए रूपया नहीं है।

राहुल ने समझाया कि नरेद्र मोदी ने पूंजी पतियों का जितना कर्च माफ किया है…वह रकम मनरेगा के 25 साल का बजट है। जब 24 साल तक हर वर्ष देशभर के किसानों का कर्जा माफ किया जाए तब कहीं जाकर 16 लाख करोड़ रुपए होता है। राहुल गांधी ने बताया कि हम हर साल एक परिवार से एक महिला को एक लाख रुपए देंगे। हर महीने की पहली तारीख को 8 हजार 500 सौ रुपए ठकाठक…, ठकाठक…, ठकाठक… खाते में डल जाएगी।

इसी तरह हर बेरोजगार ग्रेजुएट युवकों के खाते में भी 8 हजार रुपए हर महीने डालेंगे। पूंजीपतियों पर निशाना साधते हुए काह कि उनके बच्चे अप्रेंटिस करते हैं तो स्टायपेन्ड दिया जाता है। हम भी अप्रेंटिस में एक साल तक स्टायपेन्ड देंगे। इसके बाद योग्यता के अनुसार सरकारी नौकरी भी देंगे। राहुल ने बताया कि लोग पूछते हैं कि इतना रूपया कहां से आएगा। मेरा जवाब होता है कि रूपया वहीं आएगा..जहां मोदी दे रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा कि देवेन्द्र यादव को जिताएं। नौजवान देवेन्द्र मेहनती है..देवेद्र् को जिताकर कांग्रेस को मजबूत बनाएं।

 इसके पहले करीब 20 हजार से अधिक जनसमूह को पूर्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कवासी लखमा,पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष चरणदास महंत, प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस के दिग्गजों ने संबोधित किया। कांग्रेस प्रत्याशी यादव ने अपने भाषण में सेवा का आश्वासन दिया। बिलासपुर को अपनी  कर्मस्थली बताया।

उम्मीद से अधिक भीड़

राहुल की आमसभा में कयास से अधिक भीड़ नजर आयी। मैदान में कुल 10 से 12 हजार कुर्सी के अलावा इतनी ही संख्या में लोग सड़क और टेन्ट के बाहर जमीन पर बैठकर या खड़े होकर राहुल गांधी के भाषण को सुना। इस दौरान पुलिस की चाक चौबन्द व्यवस्था देखने को मिली।

भूपेश और लखमा ने दिया भाषण

इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संक्षिप्त भाषण किया। उन्होने किसानों के कर्ज माफी के अलावा संविधान पर अपनी बातों को रखा। आमसभा में मौजूद लोगों ने सबसे ज्यादा पूर्व मंत्री कवासी लखमा के भाषण आनन्द लिया। लखमा ने कहा कि भाजपा सरकार एक महीने में एक हजार रूपये देती है। इतने में तो चपटी और बम्पर भी नहीं आता है। केन्द्र में सरकार बनते ही सभी को हर हाल एक लाख रूपया दिया जाएगा। लखमा ने बताया मैं तो जीतकर संसद जा रहा हूं। अपने साथ देवेन्द्र यादव को भी लेकर जाऊंगा।

 

                   

Back to top button
close