प्रधान पाठक सस्पैंड-खण्ड शिक्षा अधिकारी व ABEO को शो-कॉज नोटिश जारी,यह है मामला

बेमेतरा।कलेक्टर बेमेतरा विलास भोसकर संदीपान ने शासकीय कार्य में उदासीनता एवं लापरवाही बरतने के कारण जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के ग्राम रनाबोड़ स्थित शासकीय प्राथमिक स्कूल के प्रधान पाठक नरेन्द्र कुमार वैष्णव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। खण्ड शिक्षा अधिकारी नवागढ़ एवं सहायक खण्ड शिक्षा अधिकारी (एबीईओ) नवागढ़ को शो-कॉज नोटिश जारी किया गया है। कलेक्टर द्वारा इस घटना की जांच के लिए अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) नवगढ़, जिला शिक्षा अधिकारी, जनपद पंचायत सीईओ की संयुक्त टीम गठित कर जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।उल्लेखनीय है कि बुधवार 22 सितम्बर को बेमेतरा जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के ग्राम रनबोड़ स्थित शासकीय प्राथमिक स्कूल के छत का प्लास्टर गिरने से 06 छात्राओं को मामूली चोट लगी थी। कलेक्टर ने बीती रात जिला अस्पताल पहुंचकर उपचाररत बच्चियों के स्वास्थ्य का हालचाल जाना। उन्होंने बताया कि बच्चों को गंभीर चोट नही आयी है, उनका सामान्य उपचार जारी है।

घटना की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन द्वारा सभी बच्चों को प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नवागढ़ मे भर्ती कराया गया। जिसमें 04 बच्चियों का ईलाज नवागढ़ मे और 02 बच्चियों का ईलाज जिला चिकित्सालय मे कराया गया। 24 घण्टे डॉक्टरों के निगरानी के पश्चात् उन्हे अस्पताल से छुट्टी दी जा रही है, सभी छात्राएं पूर्ण रुप से स्वस्थ्य हैं। बीएमओ नवागढ़ ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नवागढ़ मे भर्ती सभी 04 बच्चियों को उपचार के बाद आज गुरुवार को उनके गृह ग्राम पहुंचा दिया गया है। कलेक्टर द्वारा इस घटना की रिपोर्ट राज्य शासन को भेज दी है।

कलेक्टर ने जिले के सभी चार विकासखण्डों मे जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, अनुविभागीय अधिकारी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी एवं बीआरसी की संयुक्त टीम गठित कर जर्जर एवं मरम्मत योग्य स्कूल भवनों का चिन्हांकन कर रिपोर्ट एक सप्ताह के भीतर कलेक्टर कार्यालय को प्रस्तुत करने के निर्देश जारी किए हैं। इसके अलावा पिछले तीन साल के दौरान किन-किन विद्यालयों को स्कूल के मरम्मत एवं रंग रोगन के लिए कितनी राशि गई है, इस राशि का क्या उपयोग हुआ है। इसकी जानकारी जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से ली जा रही है। वर्ष 2021-22 मे मरम्मत योग्य स्कूल शाला भवनो का प्रस्ताव जिला शिक्षा अधिकारी से मंगाया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी ने जिले के सभी चारों विकासखंड शिक्षा अधिकारी को पत्र जारी कर शासकीय प्राथमिक एवं मीडिल स्कूल के जर्जर भवन, कमरों में कक्षा संचालित नही करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *